प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

किसी 'धोती प्रसाद' को सेना कमाण्डर के रूप में बर्दास्त नहीं करेगी

15 अगस्त 1947 को भारत की आज़ादी से पहले क्या हो रहा था? बीबीसी हिंदी के लिए 1997 में मधुकर उपाध्याय ने 'पचास दिन पहले, पचास साल बाद' नाम से रिपोर्टें बनाई थीं जिसमें सिलसिलेवार ढंग से आज़ादी के पहले की घटनाओं का ज़िक्र था.

इस सीरीज में जानिए 31 जुलाई 1947 की प्रमुख घटनाओं के बारे में.

माउण्ट बेटेन कलकत्ता से बहुत भारी मन से वापस लौटे. उन्होनें सबसे पहले 'विभाजन परिषद' की बैठक की अध्यक्षता की. शाम को उन्होनें अपने दोस्त भोपाल के नवाब हमीदुल्ला को लिखा "कांग्रेसी नेता साम्यवाद से उतने ही डरे हुए हैं जितने तुम". मेजर जनरल करियप्पा और मुचु चौधरी के बीच अनबन की चर्चाएं हो रही थीं.