दिमाग़
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

दिमाग़ को समझने की बड़ी कोशिश

  • 1 नवंबर 2013

कॉमिक्स पढ़ने वाली पीढ़ी शायद ये लाइन ज़रूर याद होगी - चाचा चौधरी का दिमाग़ कंप्यूटर से भी तेज़ चलता है. इस बात में दम है, लेकिन दिमाग़ केवल चाचा चौधरी का ही नहीं, हर इंसान का कंप्यूटर से भी तेज़ चलता है, इतना कि सुपरकंप्यूटर भी उसे नहीं पढ़ सकते, दिमाग़ कैसे काम करता है, ये समझने के लिए स्विट्ज़रलैंड में एक बड़ा प्रयोग शुरू हुआ है.