'विज्ञान के सबसे बड़े पुरस्कार' का ऐलान

गणित के लिए पुरस्कार इमेज कॉपीरइट

विज्ञान के नए पुरस्कार के विजेताओं के नाम का ऐलान हो गया है. 'विज्ञान के सबसे बड़े पुरस्कार' ब्रेकथ्रू प्राइज़़ के पहले विजेताओं में ब्रितानी गणितज्ञ प्रोफेसर रिचर्ड टेलर भी शामिल हैं.

प्रोफेसर रिचर्ड टेलर न्यू जर्सी के प्रिंस्टन में 'इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस स्टडीज़' में काम करते हैं. उन्हें संख्या सिद्धांत क्षेत्र का अगुआ माना जाता है.

उन्होंने गणित से जुड़ी बेहद पुरानी समस्याओं को हल करने के लिए जरूरी प्रभावशाली नई तकनीक को विकसित करने में अपना ख़ास योगदान दिया है.

ब्रितानी गणितज्ञ रिचर्ड टेलर के अलावा और चार शोधकर्ताओं को गणित के क्षेत्र में उनके अभूतपूर्व उपलब्धियों के लिए 'ब्रेकथ्रू प्राइज़़' पुरस्कार मिला है.

इस पुरस्कार के अन्य विजेता हैं लंदन के इंपीरियल कॉलेज के साइमन डोनाल्डसन, फ्रांस के होतेस ट्यूड्स साइंटीफिक इंस्टीट्यूट के मैक्सिम कोंसेविच, बोस्टन के हार्वर्ड विश्वविद्यालय के जैकब ल्यूरी, लॉस एंजेलिस की यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया के टेरेंस ताओ.

18 करोड़ का इनाम

'ब्रेकथ्रू प्राइज़' गणित, जीव विज्ञान और आधारभूत भौतिक विज्ञान के क्षेत्र में नई उपलब्धियों के लिए दिया जाता है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

संस्था इसे विज्ञान के क्षेत्र में दिया जाने वाला दुनिया का सबसे बड़ा पुरस्कार मानती है. पुरस्कार जीतने वाले प्रत्येक व्यक्ति को इनाम के रूप में 30 लाख डॉलर (करीब 18 करोड़ रुपए) की राशि भी दी जाती है.

ब्रेकथ्रू प्राइज़ की शुरुआत की है तकनीकी क्षेत्र के अरबपतियों के समूह ने. इस समूह में गूगल के सहसंस्थापक सर्गेई ब्रिन और फेसबुक के सीईओ मार्क ज़करबर्ग, अलीबाबा समूह के संस्थापक जैक मा और डीजिटल स्काई टेक्नोलॉजी निवेश कंपनी के संस्थापक यूरी मिलनर शामिल हैं.

रिचर्ड टेलर ने बीबीसी को बताया कि पुरस्कार जीतने पर वे काफी हैरान और उत्साहित हैं और खुद को भाग्यशाली समझ रहे हैं.

रिचर्ड टेलर कहते हैं कि उन्होंने अब तक ये नहीं सोचा है कि वे पुरस्कार में मिलने वाली राशि को कैसे खर्च करेंगे. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि वे गणित के विकास पर ज़रूर खर्च करना चाहेंगे.

वे कहते हैं, "गणित एक टीम प्रयास है जिसमें आपसी सहयोग और एकजुटता शामिल होती है. मैं अपनी इस उपलब्धि के बदले में समाज को कुछ देना चाहता हूं."

नाम के मोहताज

डिजिटल स्काई टेक्नोलॉजी निवेश कंपनी के संस्थापक यूरी मिलनर कहते हैं, " पुरस्कार दिए जाने के पीछे हमारी मंशा विज्ञान और तार्किकता की एक सकारात्मक छवि गढ़ने और मानवता के भविष्य के प्रति एक आशावादी नजरिया विकसित करने की है."

वे आगे कहते हैं, "मनोरंजन क्षेत्र की बात छोड़ दें तो हमारे समाज में बौद्धिक प्रतिभाओं का पूरा लाभ नहीं उठाया गया है. 58 साल पहले, पृथ्वी का सबसे मशहूर व्यक्ति न तो कोई अभिनेता था, न एथलीट या संगीतकार और न ही कोई भौतिकशास्त्री. वो शख्स था, अलबर्ट आईंस्टीन. उनका चेहरा दुनिया भर की पत्रिका के मुखपृष्ठों, अखबारों और टीवी पर छाया रहता था."

मिलनर ने कहा, "उनका नाम प्रतिभा का पर्याय बन चुका था. लेकिन विश्व में तमाम तरह की नई संभावनाओं के पैदा होने, असाध्य रोगों का इलाज करने, मानव जीवन को लंबा करने के बावजूद आजकल के शीर्ष वैज्ञानिक आम लोगों के लिए अपरिचित हैं. स्क्रीन और स्टेडियम के महारथियों की ही तरह ये बड़े-बड़े विचारक भी हमारे युग के सुपरस्टार हैं."

मार्क ज़करबर्ग ने इस मौके पर कहा, "मानव विकास को आगे ले जाने और नए नए विचारों को जन्म देने के लिए गणित जरूरी हैं. इस साल ब्रेकथ्रू अवार्ड ने इस क्षेत्र में बड़ा योगदान किया है और हम उनके अथक प्रयासों को सराहने के लिए बेहद उत्सुक हैं."

गणित के लिए पुरस्कार दिए जाने की शुरुआत पिछले साल की गई थी. इस पुरस्कार का उद्देश्य है गणित के क्षेत्र में मान्यताप्राप्त उपलब्धियों के अंधेरे में रह जाने वालों की मदद करना.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार