बे दरो-दीवार संग्रहालय देखा है !

इमेज कॉपीरइट AFP

ट्यूनीशिया में मौजूद जरबा द्वीप के इरियाद में अगर आप जाएंगे तो घरों की दीवारें रंगबिरंगे ख़ूबसूरत भित्तिचित्रों (म्यूरल्स) से पुती हुई मिलेंगी.

इसे कलाकार ओपन स्काई म्यूज़ियम कहते हैं - खुले आसमान के नीचे बना संग्रहालय.

फ़्रांस के ट्यूनीशियाई कलाकार मेहदी बेन चेख ने 34 कलाकारों को जरबा के इरियाद ज़िले में चित्र बनाने को निमंत्रित किया. पहला चित्र फ़्रांसीसी कलाकार सेठ का बनाया हुआ है.

इमेज कॉपीरइट AFP

स्पेनी कलाकार मलक्काई के हाथों बनाए गए इस भित्तिचित्र में एक दर्ज़िन बच्चों से बात करती दिखाई दे रही हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

स्पेनी कलाकार मलक्काई (दाएं) और ट्यूनिशियाई कलाकार एल सीद (बाएं) के हाथों दीवारों पर उकेरी गई इन तस्वीरों को देखकर आप क्या कहेंगे.

इमेज कॉपीरइट AFP

इरियाद गांव की अपनी एक ख़ासियत है. यह ट्यूनीशिया का वह सबसे पुराना गांव है जहां यहूदी, मुसलमान और ईसाई सदियों से एक साथ रहते रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

इन्हें आप कोई मज़दूर न समझें. ये हैं अमरीकी कलाकार स्वून जिनकी परछाईं इस दीवार पर पड़ रही है.

इमेज कॉपीरइट AFP

बैल्जियम के कलाकार रोआ इस ख़ामोश खड़ी दीवार पर अपने रंगों और आकृतियों से श्रंगार कर रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

फ़्रांसीसी कलाकार सेठ के हाथों बनाए गए इस भित्तिचित्र के पास से गुज़रती महिला ने एक अनोखा समायोजन पैदा किया है.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)