फ़ोन में जान फूकेंगे ये ऐप्स?

 मंगलवार, 12 अगस्त, 2014 को 12:29 IST तक के समाचार

मोबाइल में 'जान फूकेंगे' ये ऐप्स

  • माय नीनो: बच्चों की सुरक्षा को लेकर अभिभावक अक्सर चिंतित दिखते हैं. ऐसे में काम आता है ‘माय नीनो’ ऐप.

    ये ऐप बच्चे और अभिभावक के स्मार्टफ़ोन्स में लोड किया जा सकता है और इसकी मदद से अभिभावक बच्चों के पल-पल की जानकारी पा सकते हैं.

    बच्चे कहां हैं, किसके संपर्क में हैं, क्या बातचीत कर रहे हैं, इसकी जानकारी ये ऐप अभिभावकों तक पहुंचा देता है.

    अगर बच्चा ख़तरे में है तो अलार्म बटन दबा सकता है जिससे बच्चे की लोकेशन और संदेश अभिभावकों तक पहुंच जाते हैं.

  • रीवरी लैग्वेज़: अगर आपके पास एंड्रॉएड फ़ोन है तो आप 32 भाषाओं में बेहद आसानी से टाइप कर सकते हैं. रीवरी लैंग्वैज ऐप में ‘प्रेडिक्टिव टेक्स्ट’ भी है, यानी आप पूरा शब्द टाइप करें इससे पहले ही शब्द दिखने लगते हैं.

    रीवरी के ही एक फ़ोन बुक ऐप से आप अपना फ़ोन बुक अंग्रेज़ी से हिन्दी या किसी अन्य भाषा में बदल सकते हैं.

  • ई-कृषक सहयोगी: ये ऐप ख़ासतौर पर किसानों और कृषि में रुचि रखने वालों के लिए हैं. इसके ज़रिए किसान खेती संबंधित जानकारी पा सकते हैं, दवाई, बुआई करने की तकनीक 3डी वीडियो में देख सकते हैं.

    इसके अलावा वो अपने सवाल हेल्पलाइन से पूछ भी सकते हैं. और सबसे ज़रूरी बात ये है कि इस ऐप के ज़रिए किसान मंडियों पर कृषि उत्पादों की क़ीमतों के बारे में भी पता कर सकते हैं.

  • सेफ़्टीपिन: आमतौर पर जब हम किसी नए शहर में जाते हैं तो वहां के बारे में कामचलाऊ जानकारी के साथ ही जाते हैं. शहर में कौन सी जगह कितनी शांत या ख़तरनाक है ये बाद में ही पता चलता है.

    इसी का समाधान निकालता है ‘सेफ़्टीपिन’. इस ऐप के ज़रिए आप देख सकते हैं कि आप जिस शहर में जा रहे हैं, वहां कौनसी जगह कैसी है.

    ऐप ख़तरनाक इलाक़ों की जानकारी अन्य यूज़र्स से जुटाए डेटा के आधार पर देता है. इसमें ‘सेफ़्टी मीटर’ जैसा भी एक फ़ीचर है जो लोगों की रेटिंग के आधार पर चलता है.

Videos and Photos

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.