अमृता प्रीतम इमरोज़ के साथ
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

'जिस्म छोड़ा है साथ नहीं'

अमृता प्रीतम और इमरोज़ ने पांच दशक एक साथ बिताये, उन्होंने कभी शादी नहीं की लेकिन ताउम्र एक ही छत के नीचे रहे. उन्होंने एक दूसरे के लिए कभी प्यार शब्द का प्रयोग नहीं किया, ना ही अपने पत्रों में और ना ही अपनी रचनाओं में. ये कहने की कभी ज़रूरत ही नहीं हुई कि वो एक दूसरे से प्रेम करते हैं.

अमृता प्रीतम की जयंती पर इस अनोखी प्रेम कहानी पर नज़र दौड़ा रहे हैं रेहान फ़ज़ल.