फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ अपनी पत्नी के साथ
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

फ़ैज़ और नरूदा की वो महफ़िल

इसमें कोई संदेह नहीं कि फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ 20वीं सदी की सबसे ताकतवर साहित्यिक आवाज़ों में से एक थे.

कवि के रूप में उन्हें ग़ालिब और इक़बाल के समकक्ष रखा जा सकता है.

वो उन शायरों में से एक थे जो भारत में भी उतने लोकप्रिय थे जितने पाकिस्तान में.

फ़ैज़ की 30 वीं बरसी पर उन्हें याद कर रहे हैं रेहान फ़ज़ल आज की विवेचना में.