मुस्कान
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

डॉक्टर ने कहा, 100 ही घंटे हैं जीने को

मुस्कान को महज़ 13 साल की उम्र में ‘प्राइड ऑफ़ न्यूज़ीलैंड’ (न्यूज़ीलैंड की शान) के लिए नामांकित किया गया था.

साल 2104 में ‘वर्ल्ड डिसएबिलिटी डे’ के दिन उन्हें मिला 'बेस्ट एटिट्यूड अवॉर्ड.'

फ़िलहाल न्यूज़ीलैंड में रह रही 15 वर्षीय मुस्कान अब अपने मां, पिता और भाई की मुस्कुराहटों का कारण हैं. लेकिन इस मुस्कुराहट के पीछे है छिपी है एक मुश्किल संघर्ष की कहानी.

जब नन्ही सी मुस्कान देवता इस दुनिया में आईं तो डॉक्टर ने उनकी मां जेमिनी देवता और पिता अरुण देवता से कहा कि शायद मुस्कान 100 घंटे ही जीवित रह सकें.