हबीब रहमान
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

मेहमान-नवाज़ी के शहंशाह

दुनिया में बहुत कम लोग ऐसे होते हैं जो सेना से अपने करियर की शुरुआत कर हॉस्पिटलिटी इंडस्ट्री की ऊचाइंयों को छूते हैं. हबीब रहमान उनमें से एक हैं.

हाल ही में हबीब रहमान की आत्मकथा प्रकाशित हुई है 'बॉर्डर टू बोर्डरूम' जिसमें उन्होंने अपने इस दिलचस्प सफ़र पर रोशनी डाली है.

आज की विवेचना में रेहान फ़ज़ल नज़र दौड़ा रहे हैं हबीब रहमान की इस जीवन यात्रा पर.