भारतीय हॉकी टीम
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

ऐसे बना भारत विश्व चैंपियन

भारत ने पहली बार वर्ष 1975 में क्वालालम्पुर में हॉकी का विश्व कप जीता. इसके बाद भारत विश्व कप के सेमी फ़ाइनल तक में नहीं पहुंचा. सेमी फ़ाइनल में उपेक्षित असलम शेर खाँ ने मैच ख़त्म होने से तीन मिनट पहले मेज़बान मलेशिया के ख़िलाफ़ गोल कर भारत को फ़ाइनल में पहुंचाया.

पाकिस्तान के ख़िलाफ़ फ़ाइनल में हॉकी के जादूगर ध्यानचंद के बेटे अशोक कुमार ने भारत के लिए विजयी गोल दागा. ये संभवत: भारतीय हॉकी का सबसे स्वर्णिम क्षण था. भारत ने मानो दुनिया को जीत लिया था.

विवेचना में इस बार कहानी हॉकी की दुनिया में भारत की इसी जीत की.