rekhta
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

ये उर्दू जिसे कहते हैं..

  • 23 मार्च 2015

मशहूर शायर रविश सिद्दीकी ने कहा था उर्दू जिसे कहते हैं तहज़ीब का चश्मा है, वो शख़्स मोहज़्जब है जिसको ये ज़बां आई. इसी तहज़ीब का जश्न मनाने के लिए पिछले दिनों भारत, पाकिस्तान के अलावा कई देशों से लेखक, कलाकार इकट्ठा हुए. देखिए जश्न-ए-रेख्ता की झलक