प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

बीबीसी इंडिया बोल

इंडिया बोल का विषय: चरमपंथी हिंसा के कारण कश्मीर घाटी छोड़ने को मजबूर हुए हज़ारों कश्मीरी पंडितों के लिए कंपोज़िट टाइनशिप से क्या समस्या सुलझेगी या फिर जैसा कि अलगाववादी नेता कह रहे हैं कि इससे कश्मीर में लोगों के बीच दूरियां बढ़ेंगी?

कार्यक्रम में शामिल हुए अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी और रशनीक खेर जो रूट्स इन कश्मीर नाम की संस्था के संस्थापक हैं.

रशनीक खेर कश्मीरी पंडित हैं.