प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

खंडपीठ की संख्या पर नहीं हो विवाद

भारत के पूर्व मुख्य न्यायाधीश रहे न्यायमूर्ति वी एन खरे का कहना है कि जब कॉलेजियम की स्थापना नौ सदस्य खंडपीठ द्वारा की गयी है तो फिर खंडपीठ की संख्या को लेकर कोई विवाद नहीं होना चाहिए.