मानव तस्करी
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

मानव तस्करी के शिकार

अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन का मानना है कि दुनिया भर में लगभग दो करोड़ 10 लाख लोग तस्करी का शिकार हुए हैं. मानव तस्करी पर संयुक्त राष्ट्र की ताज़ा रिपोर्ट के मुताबिक़ आधे से ज़्यादा लोगों को कारखानों, रेस्तराओं और निर्माण के काम में ज़बरदस्ती लगाया गया.

अधिकतर लोग या 53 फ़ीसदी लोगों का शोषण सेक्स इंडस्ट्री में हुआ. 12 देशों में अंगों को निकाल लेने के लिए तस्करी के मामले सामने आए.

बाक़ी के लोगों को छोटे-मोटे अपराधों या भीख माँगने में लगा दिया गया. या वे छोटे बच्चे थे जिन्हें सशस्त्र संघर्ष में धकेल दिया गया.

इसके शिकार लोग अक़सर अपने ही देश में तस्करी का शिकार हो जाते हैं मगर ग़रीब देशों के कई लोगों को अमरीका, यूरोप या मध्य पूर्व में ज़्यादा सम्पन्न जगहों पर भेज दिया जाता है.

मानव तस्करी को लेकर सज़ा के बहुत कम ही मामले सामने आते हैं. रिपोर्ट में शामिल 10 देशों में तो तस्करी के लिए 10 से भी कम सज़ाएँ हुईं.