बर्की के मोर्चे पर लड़ने वाले सैनिकों से मुलाकात करते तत्कालीन राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

बर्की की वो घमासान लड़ाई

  • 11 सितंबर 2015

1965 में 4 सिख, 16 पंजाब और 4 मद्रास के जवानों से कहा गया कि वो अंतरराष्ट्रीय सीमा पार कर बर्की गाँव पर कब्ज़ा करें और इच्छोगिल नहर पर पहुंच कर लाहौर के लिए ख़तरा पैदा करेेेें

ताकि पाकिस्तानी अख़नूर से अपने सैनिक हटाने के लिए मजबूर हो जाए.

1965 युद्ध की ग्यारहवीं कड़ी में रेहान फ़ज़ल बता रहे हैं उस बर्की की लड़ाई के बारे में.