कश्मीर हिंदू पत्रकार
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

कितना बदला है कश्मीर ?

1990 के शुरुआती सालों में कश्मीर की बर्फीली पहाड़ियों के नीचे हसीन घाटी में ज़िंदगी इतनी आसान नहीं थी.

सुरक्षा बलों और चरमपंथियों के बीच रोज़ झड़पे हुआ करती थी. दोनों तरफ के लोग और आम नागरिक मारे जाते थे.

वादी के हर शहर और क़स्बे में जिधर देखो उधर बंदूकधारी सुरक्षा कर्मियों के पहरे होते थे. बाज़ार आए दिन बंद रहते थे. रातों में कर्फ्यू और दिन में खाली सड़कें हुआ करती थीं.

लेकिन अब कश्मीर के इन हालातों में बदलाव आए हैं. देखिए कितना बदला है कश्मीर.