प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

'बस पत्रकारों को दिखती है असहिष्णुता'

वित्त मंत्री अरूण जेटली का कहना है कि भारत में किसी तरह का "इनटॉलरेंस" या असहिष्णुता नहीं है और भारत को तोड़ने की बात करने वालों के ख़िलाफ़ तीखी राजनीतिक प्रतिक्रिया स्वाभाविक है.

उनका ये भी कहना है कि समाचार माध्यमों में इस तरह की ख़बरों से भारत में होने वाले विदेशी निवेश पर कोई असर नहीं पड़ा है.

अरुण जेटली ने ये बातें वॉशिंगटन में बीबीसी संवाददाता ब्रजेश उपाध्याय के साथ एक ख़ास बातचीत में कहीं.

उनका कहना था कि उनकी सरकार का एजेंडा बिल्कुल नहीं बदला है.