पाठ्यपुस्तकें बंद, ऑनलाइन होगी पढ़ाई

कैलीफ़ोर्निया के गवर्नर आर्नल्ड श्वार्ज़नेगर
Image caption श्वार्ज़नेगर मानते हैं कि क्लासरूम में सीखने और पढ़ने के लिए इंटरनेट सर्वश्रेष्ठ तरीका है.

कैलीफ़ोर्निया के गवर्नर आर्नल्ड श्वार्ज़नेगर ने इंटरनेट पर पाठ्य सामग्री उपलब्ध कराने की योजना पेश की है जिससे स्कूली पाठ्यपुस्तकों का खर्च बच सकेगा.

श्वार्ज़नेगर हर साल राज्य के लिए खर्च होने वाले करोड़ों डॉलर बचाना चाहते हैं. उनका कहना है कि ऑनलाइन पढ़ाई होने से छात्र समय के साथ ज़्यादा बेहतर ढंग से चल सकेंगे.

बीबीसी के राजेश मीरचंदानी का कहना है कि श्वार्ज़नेगर मानते हैं कि फ़ेसबुक, ट्विटर और आईपॉड डाउनलोडिंग जैसी इंटरनेट गतिविधियाँ यह दर्शाती हैं कि युवा सबसे पहले नई ऑनलाइन तकनीक अपनाते हैं और इसलिए क्लासरूम में सीखने और पढ़ने के लिए इंटरनेट सर्वश्रेष्ठ तरीका हो सकता है.

अगस्त में अगले स्कूली वर्ष की शुरूआत में कैलीफ़ोर्निया हाई स्कूल के गणित और विज्ञान के छात्रों को ऑनलाइन पाठ्य सामग्री मिलेगी.

डिजिटल पाठ्यपुस्तकें

गवर्नर का कहना है कि डिजिटल पाठ्यपुस्तकों को समय के साथ आसानी से बदला जा सकता है ताकि पढ़ाई का समन्वय प्रगति के साथ बना रहे.

लेकिन हमारे संवाददाता का कहना है कि इस बदलाव की असली वजह जो श्वार्ज़नेगर चाहते हैं वह पैसा है.

कैलीफ़ोर्निया में पिछले साल पाठ्यपुस्तकों पर 3.50 करोड़ डॉलर का खर्च हुआ था. इतना खर्च अब और ज़्यादा वहन नहीं किया जा सकता.

इस बजट घाटे से निपटने के लिए अधिकारी बड़ी कटौतियाँ कर रहे हैं.

सोमवार को गवर्नर श्वार्ज़नेगर ने एक मार्च के बाद किए गए ठेकों के लिए राशि जारी करने पर रोक लगाने और राज्य एजेंसियों को नए ठेके न लेने का एक विशेष आदेश पारित किया.

उन्होंने कहा, "राज्य की सभी एजेंसियाँ और विभाग ठेकों पर खर्च हो रहे एक-एक पैसे की निगरानी रखें और यह सुनिश्चित करें कि राज्य को सर्वश्रेष्ठ सौदा मिल रहा है."

रिपब्लिकन गवर्नर ने बजट में हो रही कमी की वजह से कोई भी कर बढ़ाने से साफ़ इंकार कर दिया है.

पिछले महीने सभा ने गवर्नर श्वार्ज़नेगर के घाटे से निपटने के एक प्रस्ताव को नकार दिया था.

संबंधित समाचार