मस्जिदें बंद रखने के आदेश का उल्लंघन

चीन के मुस्लिम बाहुल्य शिनजियांग प्रांत की राजधानी उरुमची में सरकारी प्रतिबंध के बावजूद कुछ मस्जिदें खुली हैं और वहाँ जुमे की नमाज़ अदा की गई है.

Image caption चीन के शिनजियांग प्रांत में वीगर और हान चीनियों के बीच ख़ासा तनाव है

चीन के पश्चिमोत्तर में स्थित शिनजियांग में पिछले रविवार को हुई हिंसा में 150 से अधिक लोग मारे गए थे और सैकड़ों घायल हुए थे.

इस प्रांत में वीगर समुदाय के मुसलमान लोग लगभग 45 प्रतिशत हैं जबकि हान चीनी लगभग 40 प्रतिशत हैं.

हान चीनियों के लगातार इस प्रांत में आने के कारण दोनों समुदायों में तनाव है और हिंसा भी हुई है.

शुक्रवार को पहले ख़बर आई थी कि मस्जिदें खोलने पर सरकारी प्रतिबंध लगा दिया गया है और लोगों से कहा गया है कि वे अपने घरों में ही रहकर नमाज़ अदा करें.

फ़िलहाल ये स्पष्ट नहीं है कि जो मस्जिदें खुली हैं वे किसी नीतिगत बदलाव की वजह से खुली है या फिर मस्जिदों के बाहर भीड़ जमा हो जाने के कारण खुली हैं.

शुक्रवार को संभावना थी कि वीगर समुदाय के हज़ारों लोग शुक्रवार की नमाज़ अदा करने के लिए मस्जिदों में आएँगे.

लेकिन अधिकारियों ने उरुमची शहर की मस्जिदों के बाहर नोटिस चिपका दिए और लोगों को निर्देश दिया कि वे घर पर ही रहें.

एक बीबीसी संवाददाता का कहना है कि उरुमची में तनाव का महौल है.

शहर में जगह-जगह पर अर्धसैनिक बल तैनात किए गए हैं ताकि पिछले रविवार जैसी हिंसक घटनाएँ न हो सकें.