भारत ने स्पष्टीकरण मांगा

बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख़ ख़ान को अमरीका के नेवार्क हवाई अड्डे पर रोके जाने और पूछताछ किए जाने के मामले में भारत सरकार ने अमरीका से स्पष्टीकरण मांगा है.

नई दिल्ली स्थित अमरीकी दूतावास ने कहा है कि वे इस मामले में तथ्यों का पता लगा रहे हैं. अमरीकी राजदूत टिमूथी रोमर ने शाहरुख़ को अंतरराष्ट्रीय स्टार बताते हुए कहा है कि उनका अमरीका में हमेशा स्वागत है.

इस बीच भारत में सिनेमा जगत से जुड़े लोगों ने शाहरुख़ के साथ हुए बर्ताव पर ग़ुस्से का इज़हार किया है.

ऐसा मेरे साथ भी हुआ है. अब तो जिस तरह वे हमारी जाँच करते हैं उसी तरह हमें भी अमरीकियों की जाँच करनी चाहिए.

अंबिका सोनी

भारत सरकार में सूचना और प्रसारण मंत्री अंबिका सोनी ने भी हवाई अड्डों पर अमरीकी सुरक्षा अधिकारियों के रवैए की आलोचना की है.

शाहरुख़ के मामले पर उनका कहना था, "ऐसा मेरे साथ भी हुआ है. अब तो जिस तरह वे हमारी जाँच करते हैं उसी तरह हमें भी अमरीकियों की जाँच करनी चाहिए."

शाहरुख़ को भारतीय समय के मुताबिक़ शुक्रवार देर रात न्यू जर्सी के नेवार्क हवाई अड्डे पर लगभग दो घंटे तक रोका गया और अलग कमरे में ले जाकर उनसे पूछताछ की गई. वे शिकागो जा रहे थे.

मेरे नाम के आगे ख़ान जुड़ा है और मुझे लगता है कि जांच के लिए बनाई गई सूची में इसका ज़िक्र है.

शाहरुख़ ख़ान

भारतीय विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा है कि मामले का पता चलते ही वहाँ स्थित भारतीय वाणिज्य दूतावास ने हस्तक्षेप किया और शाहरुख़ से संपर्क किया गया.

बाद में शाहरुख़ को छोड़ दिया गया और वे तय कार्यक्रम के मुताबिक़ स्वतंत्रता दिवस पर दक्षिण एशियाई समारोह में हिस्सा लेने पहुँचे.

शाहरुख़ ने इस घटना पर ग़ुस्से और दुख का इज़हार किया है. उन्होंने कहा कि मुसलमान होने के कारण उनके साथ इस तरह का बर्ताव किया गया.

ग़ुस्से में शाहरुख़

शाहरुख़ ख़ान

शाहरुख़ ने कहा कि वे पूरे प्रकरण से आहत हैं.

शाहरुख़ ने कहा है कि वे पूरे प्रकरण से आहत हैं. उन्होंने कहा, "मुझे हवाई अड्डे पर परेशान किया गया. इसकी कोई ज़रूरत नहीं थी. मैं बहुत आहत महसूस कर रहा हूँ."

हवाई अड्डे से जाने के बाद उन्होंने अटलांटिक सिटी में कंसर्ट में हिस्सा लिया. उन्होंने वहाँ अपने प्रशंसकों से कहा, "मुझे हवाई अड्डे पर रोका गया. शायद इसलिए कि मेरे नाम के आगे ख़ान जुड़ा है."

उनका कहना था, "मुझे लगता है कि जाँच के लिए बनाई गई सूची में इसका ज़िक्र है."

शाहरुख़ के मुताबिक़ उन्होंने अधिकारियों से कई बार कहा कि वे एक फ़िल्मस्टार हैं और हाल ही में शूटिंग के लिए अमरीका आए हैं लेकिन सुरक्षाकर्मियों ने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया.

उन्होंने कहा, "मैं पहले भी अमरीका आने में हिचकता रहा हूँ. ये तो संयोग ही है कि मैं अपने परिवार के साथ नहीं आया."

प्रतिक्रिया

अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा ने कहा है कि शाहरुख़ के साथ जो भी हुआ उससे वो आहत हैं.

उन्होंने कहा, "ये अपमानजनक और स्तब्ध कर देने वाला है. मैं ये नहीं कहती कि शाहरुख़ की जाँच मत करो क्योंकि वो पूरी दुनिया में मशहूर एक्टर है लेकिन सिर्फ़ इसलिए रोकना कि उनके नाम में ख़ान जुड़ा है बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है."

अमरीका में जाँच के कड़े प्रावधान हैं. तभी तो 9/11 के बाद कोई चरमपंथी घटना नहीं हुई. ये तो सबके साथ होता है. इसे तूल नहीं देना चाहिए.

सलमान ख़ान

वहीं सलमान ख़ान का कहना है कि ये कोई बड़ा मुद्दा नहीं है.

उन्होंने पत्रकारों से कहा, "अमरीका में जाँच के कड़े प्रावधान हैं. तभी तो 9/11 के बाद कोई चरमपंथी घटना नहीं हुई. ये तो सबके साथ होता है. इसे तूल नहीं देना चाहिए."

दूसरी ओर कांग्रेस पार्टी के नेता राजीव शुक्ला का कहना था कि शाहरुख़ ने उन्हें हवाई अड्डे से ही संदेश भेजा था. वो काफ़ी परेशान लग रहे थे. ये दुर्भाग्यपूर्ण था.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.