मग़राही की वापसी पर त्रिपली मे जश्न

  • 21 अगस्त 2009
मग़राही
Image caption मग़राही त्रिपली पहुंचे

लॉकरबी कांड के अभियुक्त अब्दुल बासत अली अल मग़राही के त्रिपली पहुंचने पर हुए शानादर स्वागत की ब्रिटन और अमरीका ने आलोचना की है.

अल मग़राही स्कॉटलैंड की जेल से मानवीय आधार पर रिहा होकर लिबिया की राजधानी त्रिपली पहुंचे. हवाई अड्डे पर जमा भीड़ ने उनका गर्मजोशी के साथ स्वागत किया.

ब्रिटन के विदेशमंत्री डेविड मिलिबैंड ने मग़राही के शानदार स्वागत को दुखद बताया और कहा कि मगराही के स्वागत के दृश्य इस कांड में मारे गये लोगों के संबंधियों को विचलित कर सकते हैं, "ज़ाहिर है कि त्रिपली में एक सामूहिक हत्यारे के हीरो की तरह स्वागत के दृश्य कितने दुखद और किस सीमा तक विचलित करने वाले हो सकते हैं."

लॉकरबी कांड में मारे गए लोगों के संबंधियों ने मग़राही की रिहाई की निंदा की.

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा का कहना है कि मग़राही को उम्र क़ैद के नाम पर 8 साल की सज़ा के बाद रिहा कर देना एक ग़लती है. ओबामा ने कहा लिबिया सरकार को ये संदेश दे दिया गया था कि मग़राही का एक हीरो की तरह स्वागत न किया जाए, और उन्हें स्वदेश पहुंचते ही नज़रबंद कर लिया जाए.

मग़राही का विमान त्रिपली में उतरते ही वहां पर जमा लोगों ने झंडियां लहरा कर उनका स्वागत किया. त्रिपली में मौजूद बीबीसी संवाददाता के मुतबिक जनता ने भले ही मग़राही की स्वदेश वापसी पर उत्साह दिखाया, लेकिन अभी लिबिया सरकार और अधिकारियों की ओर से मग़राही की रिहाई या स्वेदश वापसी पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

1988 में स्कॉटलैंड के शहर लॉकरबी के आसमान पर अमरीकी विमान सेवा पैन एम की उड़ान 103 को बम से उड़ा दिया गया था, जिससे विमान पर सवार सभी 270 लोग मारे गए थे.

सन 2001 में नीदरलैंड्स में मग़राही पर मुकदमा चलाया गया, जिसके दौरान वे इस बम कांड में अपना हाथ होने से हमेशा इंकार करते रहे.

संबंधित समाचार