उत्तर-दक्षिण कोरिया में बातचीत

  • 22 अगस्त 2009
Image caption दोनों देशों के बीच वर्षों बाद बातचीत हुई है.

उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया ने लगभग दो साल के बाद बातचीत शुरू की है.

दो साल के बाद अचानक पहली बार दोनों देशों के अधिकारियों के बीच ये बैठक दक्षिण कोरिया की राजधानी सोल में हुई.

ख़बर है कि उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग इल के क़रीबी माने जाने वाले ख़ुफ़िया विभाग के प्रमुख ने दक्षिण कोरिया के एकीकरण मंत्री ह्यून ईन टेक से मुलाक़ात की.

उत्तर कोरिया का एक दल दक्षिण कोरिया के पूर्व राष्ट्रपति किम दए जुंग के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए सोल गया था.

उत्तर कोरिया ने हाल ही में परमाणु परीक्षण किया था लेकिन जानकारों का कहना है कि अब वो दक्षिण कोरिया से अच्छे संबंध चाहता है. दक्षिण कोरिया की सरकारी एजेंसी के मुताबिक बैठक शुरु होने से पहले एकीकरण मंत्री ने कहा, "मैं बातचीत के दौरान दोनों देशों के आपसी मुद्दे उठाऊँगा. पिछले साल फ़रवरी में राष्ट्रपति ली म्यूंग बक के सत्ता में आने के बाद यह पहली बैठक है.

जब से राष्ट्रपति ली ने उत्तर कोरिया को दी जाने वाली आर्थिक मदद बंद कर दी थी तभी से दोनों देशों के रिश्ते और ख़राब हो गए थे.

सोल में बीबीसी संवाददाता जॉन सडवर्थ के मुताबिक शनिवार को हुई बातचीत से ये साफ़ संकेत मिलते हैं कि महीनों के तनाव के बाद उत्तर कोरिया अपने पड़ोसी देश से रिश्ते सुधारना चाहता है.

अच्छे संबंध का इच्छुक

पिछले कुछ महीनों में उत्तर कोरिया ने जापानी समुद्री सीमा के ऊपर लंबी दूरी का रॉकेट दागा था और ज़मीन के अंदर परमाणु परीक्षण किया था.

कुछ पर्यवेक्षकों का कहना है कि उत्तर कोरिया पर संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंध का असर होने लगा है और विदेशी मुद्रा की सख़्त ज़रुरत को पूरा करने के लिए वो दक्षिण कोरिया से व्यापार बढ़ाना चाहता है.

उत्तर कोरियाई प्रतिनिधिमंडल ने दक्षिण कोरिया के पूर्व राष्ट्रपति किम दए जुंग को श्रद्धांजलि दी. किम ने अपने कार्यकाल के दौरान दोनों देशों के बीच संबंध सुधारने की पूरी कोशिश की.

उन्होंने उत्तर कोरिया की तरफ़ दोस्ती का हाथ बढ़ाया. अपनी 'सनशाइन पॉलिसी' के तहत उन्होंने उत्तर कोरिया को आर्थिक मदद की. वर्ष 2000 में उन्होंने उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग इल से ऐतिहासिक शिखर वार्ता की. उनकी इस कोशिश के लिए वर्ष 2000 मे उन्हें नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया था.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार