ओबामा के ख़िलाफ़ प्रदर्शन

प्रदर्शनकारी
Image caption नई स्वास्थ्य नीति का विरोध करने वालों का कहना है कि सरकार को सभी को स्वास्थ्य सेवाएँ उपलब्ध करवाने की ज़रुरत नहीं है

अमरीका में राष्ट्रपति बराक ओबामा की नई स्वास्थ्य नीति के ख़िलाफ़ वॉशिंगटन में हज़ारों लोगों ने प्रदर्शन किया है.

उन्होंने राष्ट्रपति निवास व्हाइट हाउस से कैपिटल हिल तक रैली भी निकाली.

प्रदर्शनकारियों का कहना है कि जनता के टैक्स के पैसे से सरकारी स्वास्थ्य बीमा योजना चलाने से महंगाई बढ़ेगी और देश की अर्थव्यवस्था चौपट हो जाएगी.

लेकिन अपनी स्वास्थ्य योजना की वकालत करते हुए एक जनसभा में बराक ओबामा ने कहा है कि इसे लागू करने से पीछे नहीं हटेंगे.

ओबामा की नई नीति लागू होने से अमरीका पर 22 खरब डॉलर का बोझ पड़ेगा जो कि सकल घरेलू उत्पाद का 16 प्रतिशत है.

यह राशि इस समय स्वास्थ्य सेवाओं पर खर्च की जा रही राशि से दोगुनी है.

अडिग ओबामा

Image caption ओबामा ने साफ़ कर दिया है कि इस नीति को सुधारने के सुझाव मंज़ूर हैं लेकिन इसे ख़त्म करने के लिए नहीं

राष्ट्रपति ओबामा ने गत मंगलवार को अपनी नई स्वास्थ्य योजना को संसद के दोनों सदनों के सामने रखा था और कहा था कि वे इसे लागू करने के लिए प्रतिबद्ध हैं.

शनिवार को उन्होंने दोहराया कि वे घरेलू स्तर पर यह नीति उनकी प्राथमिकता है और वे इसमें कोई बदलाव स्वीकार नहीं करेंगे.

हालांकि उन्होंने कहा है कि वे इस नीति में सुधार के सुजावों का स्वागत करेंगे.

लेकिन इसका प्रदर्शन कर रहे लोगों का कहना है कि ओबामा प्रशासन स्वास्थ्य सेवाओं और बैंकों को दी जा रही राहत राशि के रुप में अनियंत्रित खर्च कर रही है.

प्रदर्शनकारियों में शामिल, उक्रेन के एक आप्रवासी ने कहा, "हमने सोवियत संघ में बहुत समाजवाद देख लिया."

इस प्रदर्शन में शामिल होने के लिए कई अमरीकी राज्यों से लोग वॉशिंगटन पहुँचे थे.

उल्लेखनीय है कि इस समय अमरीका में 4.6 करोड़ लोगों को पास स्वास्थ्य बीमा नहीं है और 2.5 करोंड़ लोगों का स्वास्थ्य बीमा पर्याप्त नहीं है.

संबंधित समाचार

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है