'हथियारों का ग़लत इस्तेमाल गंभीर मामला'

फ़ाइल पिक्चर
Image caption अमरीका पाकिस्तान को तालिबान और अल क़ायदा के ख़िलाफ़ फ़ौजी मदद दे रहा है.

पूर्व राष्ट्रपति परेवज़ मुशर्रफ़ के बयान पर अमरीका ने कहा है कि वो अपने हथियारों के ग़लत इस्तेमाल के हर आरोप को बेहद गंभीरता से लेता है लेकिन फ़िलहाल उसे इस बारे में और जानकारी की ज़रूरत है.

परेवज़ मुशर्रफ़ ने एक टीवी चैनल से बातचीत के दौरान कहा है कि पाकिस्तान ने तालिबान से लड़ने के लिए अमरीका से मिलने वाली फ़ौजी मदद को भारत के ख़िलाफ़ मज़बूती हासिल करने के लिए इस्तेमाल किया.

इसी से जुड़े एक सवाल के जवाब में अमरीकी विदेश विभाग के प्रवक्ता इएन केली ने कहा है कि ये आरोप एक पूर्व राष्ट्रपति के तरफ़ से लगाए गए हैं और अमरीका इसे बेहद गंभीरता से लेता है.

Image caption पाकिस्तान अभी तक इन आरोपों को नकारता रहा है.

इएन केली ने कहा है कि जब भी अमरीका किसी को हथियार बेचता है या फ़ौजी मदद देता है तो उनके इस्तेमाल के साथ शर्तें जुड़ी होती हैं.

उनका कहना था,``मुशर्रफ़ ने इस बारे में बहुत कम जानकारी दी है. लेकिन हम उस हर आरोप को बेहद गंभीरता से लेते हैं जिसमें कहा गया हो कि अमरीकी हथियारों का इस्तेमाल तयशुदा मकसद के लिए नहीं हुआ.’’

अमरीकी प्रवक्ता ने कहा कि फ़िलहाल इस बयान पर किस तरह के कदम उठाए जा सकते हैं ये कहना मुश्किल है लेकिन इसमें कोई शक नहीं है कि अमरीका इस तरह की बातों को बहुत गंभीरता से लेता है.

तो जब पाकिस्तान को हथियार दिए गए थे तो क्या उसमें ऐसी शर्त थी कि उन्हें भारत के ख़िलाफ़ इस्तेमाल नहीं किया जाएगा?

इस सवाल के जवाब में प्रवक्ता का कहना था, ``मुझे मुशर्रफ़ के बयान की विस्तृत जानकारी तो नहीं है लेकिन मैं समझता हूं कि वो उस फ़ौजी मदद की बात कर रहे थे जो पाकिस्तानी चरमपंथियों से लड़ने के लिए दिए गए थे.’’

साथ ही उन्होंने कहा कि हाल के दिनों में जो फ़ौजी मदद थी वो चरमपंथियों के ख़िलाफ़ लड़ाई के लिए ही दी गई थी.

अमरीकी कांग्रेस में पहले भी इस तरह की बातें होती रही हैं कि पाकिस्तानी अल क़ायदा और तालिबान के ख़िलाफ़ मिल रही फ़ौजी मदद को भारत के ख़िलाफ़ अपनी ताक़त बढ़ाने के लिए कर रहा है.

लेकिन पाकिस्तानी हुकूमत इन आरोपों को बेबुनियाद बताती रही है.

इस बीच भारत ने कहा है कि अमरीका पाकिस्तान को दी जानेवाली मदद पर कड़ी नज़र रखे जिससे इसका ग़लत इस्तेमाल नहीं हो.

संबंधित समाचार