मौत की सज़ा टालनी पड़ गई

रोमेल ब्रूम
Image caption ब्रूम पर एक नवयौवना के बलात्कार और हत्या का आरोप साबित हुआ है

अमरीका के ओहायो प्रांत में एक क़ैदी की मौत की सज़ा इसलिए टालनी पड़ी क्योंकि जेल अधिकारी इंजेक्शन लगाने के लिए उसकी नस ही नहीं ढूँढ़ सके.

मौत की सज़ा अब एक हफ़्ते के लिए टाल दी गई है.

सज़ा को अंजाम देने के लिए पहुँची टीम दो घंटे तक मशक्कत करती रही लेकिन उसे वह नस ही नहीं मिली जिसमें वे इंजेक्शन लगा सकें.

रोमेल ब्रूम पर बलात्कार का आरोप सिद्ध हो चुका है और उसे मौत की सज़ा देने के लिए नस के ज़रिए घातक रसायन दिया जाना था.

ब्रूम के वकील ने इस प्रक्रिया को रोकने की अपील करते हुए कहा है कि यह क्रूर है.

बाद में ओहायो के गवर्नर टेड स्ट्रिकलैंड ने 53 वर्षीय ब्रूम की सज़ा एक हफ़्ते के लिए टाल दी.

1999 में मौत की सज़ा फिर से शुरु करने के बाद से ओहायो में पहली बार गवर्नर को मौत की सज़ा को इस तरह से अंतिम समय में टालना पड़ा है.

रोमेल ब्रूम पर 1984 में 14 वर्षीय ट्राइना मिडलटन के साथ बलात्कार करने के बाद उसकी हत्या करने का आरोप साबित हुआ है.

संबंधित समाचार