ख़ामनेई का अमरीका पर आरोप

  • 21 सितंबर 2009
ख़ामनेई
Image caption ख़ामनेई ने ओबामा पर पुरानी नीतियों पर ही काम करने का आरोप लगाया है

ईरान के सर्वोच्च धार्मिक नेता आयतुल्ला अली ख़ामनेई ने कहा है कि अमरीका भी यह जानता है कि वह ग़लत ढंग से आरोप लगा रहा है कि ईरान परमाणु हथियार बनाने की कोशिश कर रहा है.

ख़ामनेई ने कहा है कि हालांकि राष्ट्रपति बराक ओबामा दोस्ताना बातें कर रहे हैं लेकिन वह भी अपने पूर्ववर्ती शासकों की तरह ही ईरान को लेकर भय पैदा करने वाली नीति का पालन कर रहे हैं.

ख़ामनेई की यह टिप्पणी राष्ट्रपति ओबामा की उस घोषणा के बाद आया है जिसमें उन्होंने कहा है कि अमरीका यूरोप में प्रतिरक्षा मिसाइल प्रणाली लगाने की अपनी योजना को रद्द कर रहा है.

इस घोषणा के साथ बराक ओबामा ने यह भी कहा है कि इस प्रतिरक्षा प्रणाली को अमरीका पर ईरान के संभावित मिसाइल हमले से बचाने के लिए लगाया जाना था.

मुद्दा

समाचार एजेंसी एपी के अनुसार, ख़ामनेई ने सरकारी रेडियो पर ईद के अवसर पर दिए गए अपने संदेश में कहा, "वो अमरीकी अधिकारी जो ईरान की मिसाइल और उसके ख़तरों के बारे में बात करते हैं वो जानते हैं कि उनकी बात ग़लत है."

ये बातें उस समय हो रही हैं जब ईरान ने अमरीकी सहित दुनिया के पाँच ताक़तवर देशों को सुरक्षा और परमाणु निरस्त्रीकरण जैसे मुद्दों पर बातचीत का न्यौता दिया है.

सभी देशों ने बातचीत के लिए स्वीकृति ज़ाहिर की है.

हालांकि अभी यह वाद-विवाद चल रहा है कि इस बातचीत में ईरान के परमाणु कार्यक्रम पर खुली बातचीत होगी या नहीं. अमरीकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन एकाधिक बार कह चुकी हैं कि अमरीका ने बातचीत में शामिल होना इसीलिए स्वीकार किया है ताकि परमाणु कार्यक्रम पर खुली बातचीत हो सके.

ईरान हमेशा से कहता रहा है कि उसका परमाणु कार्यक्रम शांतिपूर्ण कार्यों के लिए है और वह परमाणु हथियार नहीं बना रहा है.

ये बातचीत अक्तूबर के पहले हफ़्ते में होनी है.

इससे पहले यूरोपीय संघ के विदेश मंत्री जैवियर सोलाना पहली अक्तूबर को ईरान के परमाणु वार्ताकार सईद जलीली से मिलने वाले हैं और उनसे ईरान के परमाणु कार्यक्रम पर चर्चा करने वाले हैं.

ख़ामनेई ने अपने संदेश में ईरान की घरेलू राजनीति के बारे में भी बातें की हैं.

वे सरकार और विपक्षी दलों के बीच मतभेदों को दूर करने के प्रयास कर रहे हैं.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार