ईरान ने किया शहाब-3 का परीक्षण

ईरान मिसाईल
Image caption ईरान ने शहाब सीरिज़ की तीन मिसाईलों का लगातार परीक्षण किया है.

ईरान ने लंबी दूरी तक मार करने वाली मिसाईल शहाब-3 का सफल परीक्षण किया है. सरकारी टेलीविज़न ने यह ख़बर दी है.

इससे पहले ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड्स ने रविवार को ही मध्यम दूरी के मिसाईलों का परीक्षण किया था.

शहाब-3 की मारक क्षमता 2000 किलोमीटर है. विश्लेषकों का कहना है कि अगर इसकी क्षमता वाकई इतनी है तो यह मिसाईल इसराइल और खाड़ी क्षेत्रों में अमरीकी अड्डों को निशाना बना सकता है.

ईरान अपने विवादास्पद परमाणु कार्यक्रम को लेकर जल्दी ही छह पश्चिमी देशों के साथ बातचीत करने वाला है.

इस बातचीत में सुरक्षा परिषद के पाँच देशों के अलावा जर्मनी है. यह बातचीत इसलिए और महत्वपूर्ण हो गई है क्योंकि ईरान ने हाल ही में बताया था कि वो यूरेनियम संवर्धन के लिए नया संयंत्र बना रहा है.

ईरान की मीडिया ने बताया है कि रिवोल्यूशनरी गार्ड्स ने पवित्र रक्षा सप्ताह के तहत कई दिनों तक युद्धाभ्यास किया है और इसी दौरान शहाब-3 का परीक्षण किया गया.

रविवार को शहाब -1 और शहाब-2 का परीक्षण किया गया था. इनकी क्षमता 300 से 700 किलोमीटर तक है.

इसके अलावा ईरान ने टोंडर-69 और फतेह-110 का भी परीक्षण किया है जिनकी मारक क्षमता 170 किलोमीटर तक है.

बीबीसी के तेहरान संवाददाता जॉन लेन का कहना है कि पश्चिमी देशों के लिए शहाब -3 का परीक्षण चिंता का विषय है क्योंकि पश्चिमी देश शहाब-3 की रेंज में हैं.

शहाब-3 तुर्की तक मार कर सकता है जो चिंता का कारण होगा.

ईरान मात्र चार दिन के बाद ही पश्चिमी देशों के साथ जेनेवा में बैठक करने वाला है. इस बैठक में परमाणु कार्यक्रम के अलावा कई और मुद्दों पर बातचीत होनी है.

संबंधित समाचार