भारत-रूस-चीन संबंधों को मज़बूत करने की पहल

एस एम कृष्णा
Image caption भारत, चीन, रूस के विदेश मंत्रियों की अहम् बैठक

भारत, रूस और चीन के विदेश मंत्रियों की बंगलुरू में हुई त्रिपक्षीय बैठक में साझा घोषणापत्र जारी किया गया है.

विश्व की तीन तेज़ी से उभरती हुई आर्थिक महाशक्तियां रूस, भारत और चीन अपने आपसी संबंधों को और भी मज़बूत करने और सहयोग को बढ़ावा देने की दिशा में एक अहम क़दम माना जा रहा है.

इस त्रिपक्षीय बैठक में चीन के विदेश मंत्री यांग जेईची और रूस के विदेश मंत्री सेर्गेई लावरोव ने वरिष्ठ अधिकारियों के दलों के साथ हिस्सा लिया.

हालाँकि इससे पहले इन तीन देशों के विदेश मंत्रियों की ऐसी नौ बैठकें हो चुकी हैं. लेकिन बदलते हुए अंतरराष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य में इसे अहम माना जा रहा है.

भारत-चीन बातचीत

त्रिपक्षीय बैठक के बाद भारत और चीन के नेताओं की बातचीत होगी.

ये दोतरफा मुलाक़ात इसलिए भी अहम होगी क्योंकि हाल के दिनों में भारत और चीन के संबंधों में कड़वाहट बढ़ गई है.

चीन ने एक ओर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अरुणाचल प्रदेश यात्रा पर आपत्ति जताकर यह संकेत देने की कोशिश कि वो इस भारतीय प्रदेश पर भी अपना दावा रखता है.

दूसरी और चीन ने तिब्बत के धार्मिक नेता दलाई लामा के अरुणाचल प्रदेश के प्रस्तावित दौरे पर भी आपत्ति जताई है.

हालांकि भारत ने इन दोनों ही आपत्तियों को रद्द कर दिया है और अरुणाचल प्रदेश को अपना अटूट अंग बताया है और साथ ही दलाई लामा को भी अरुणाचल प्रदेश जाने की अनुमति दे दी है लेकिन इस दोतरफा भेंट पर इन सभी विवादों का साया पड़ता दिखाई दे रहा है. भारत के विदेश मंत्री एस एम कृष्णा इस बैठक को लेकर काफी आशावादी है.

उन्होंने कहा है कि भारत और चीन के संबंध दिनोंदिन बेहतर हो रहे है और आपसी सहयोग बढ़ रहा है.

उन्होंने कहा कि भारत और चीन दोनों ही महत्वपूर्ण देश हैं इसलिए उन्हें बहुत ही फूँक फूँक कर क़दम रखने की ज़रुरत है. यह भी एक दिलचस्प बात है की विदेशी नीति से संबंधित एक महत्वपूर्ण बैठक दिल्ली में सत्ता के गलियारों से दूर बंगलुरू में हो रही है.

आज से 23 वर्ष पहले इस शहर में सार्क शिखर सम्मलेन की बैठक आयोजित की गई थी जिसमें राजीव गाँधी ने भारत का नेतृत्व किया था.

इस बार माना जा रहा है कि एस एम कृष्णा की पहल पर यह बैठक बंगलुरू में हो रही है क्योंकि कर्नाटक के मुख्यमंत्री के रूप में उन्होंने इस नगर के विकास में एक अहम भूमिका निभाई थी.

संबंधित समाचार