'भारत को ज़्यादा महत्व की बात ग़लत'

  • 29 अक्तूबर 2009
हिलेरी क्लिंटन
Image caption हिलेरी क्लिंटन ने इस घारणा को ग़लत बताया कि अमरीका पाकिस्तान के मुक़ाबले भारत को अधिक महत्व देता है.

अमरीका की विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने इस घारणा को ग़लत बताया है कि उनका देश पाकिस्तान की तुलना में भारत को अधिक प्राथमिकता देता है.

लाहौर में विश्वविद्यालय के छात्रों से हुई एक बहस के दौरान एक छात्र ने हिलेरी क्लिंटन से कहा कि पाकिस्तान ने हमेशा अमरीका का साथ दिया है लेकिन अमरीका ने भारत को ही महत्व दिया.

इस पर उन्होने कहा, “ये सही नहीं है. मैं आपको बताना चाहती हूँ कि अमरीका और पाकिस्तान के बीच सालों पुराने और मज़बूत रिश्ते रहे हैं और हमने हर क्षेत्र में साथ साथ काम किया है”.

उन्होने आगे कहा, “हमारे रिश्तों में कुछ मुश्किलें भी आईं लेकिन वह इतनी नहीं थी कि हमारे संबंध बिगड़ जाते.”

उन्होने बताया कि अमरीका के पाकिस्तान के साथ मज़बूत रिश्ते हैं और साथ ही भारत के साथ भी अच्छे संबंध हैं. उन्होने कहा कि अमरीका भारत और पाकिस्तान को साथ लेकर चलना चाहता है.

पाक- भारत रिश्ते बेहतर हों

ग़ौरतलब है कि अमरीका की विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन इन दिनों पाकिस्तान की यात्रा पर हैं और वे गुरुवार को लाहौर गई जहाँ उनकी पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ से भी मुलाक़ात हुई.

अमरीका की विदेश मंत्री ने कहा, “अमरीका चाहता है कि भारत और पाकिस्तान के बीच संबंध मज़बूत हों और सभी मुद्दे बातचीत के ज़रिए हल हों.”

उन्होने कहा, "अगर पाकिस्तान भारत के साथ अपने संबंध और मज़बूत कर ले और व्यापार के लिए अपनी सीमाएँ खोल दे तो पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था रॉकेट की तरह उड़ान भरने लगेगी".

उन्होने बताया, “यह मेरी व्यक्तिगत राय है और मैंने दुनिया की अर्थव्यवस्थाओं का अध्ययन किया है. पाकिस्तान और भारत के बीच संबंधों में सबसे बड़ी रुकावट विश्वास की कमी है.”

हिलेरी क्लिंटन ने बताया कि इस क्षेत्र के विकास के लिए भारत और पाकिस्तान के बीच बेहतर संबंध बहुत ज़रूरी हैं.

संबंधित समाचार