समुद्री लुटेरों के क़ब्ज़े में 15 भारतीय

  • 10 नवंबर 2009
Image caption सोमालिया जल क्षेत्र में हाल के समय में जहाज़ लूटने की अनेक घटनाए हुई हैं

सोमालिया के एक व्यवसायी ने बताया है कि समुद्री लुटेरों ने पनामा का झंडा लेकर चलने वाले एक जहाज़ को अगवा कर लिया है जिस पर चालक दल के 18 लोग सवार हैं.

उन्होंने बताया कि इन लोगों में 15 भारतीय, दो पाकिस्तानी और एक सोमाली है.

अब्दुर्रज़ाक़ अब्दुल क़ादिर नामक इस व्यवसायी ने कहा है कि वो उस कारोबारी समूह के मुखिया हैं जिसने अल मीज़ान नामक इस जहाज़ को रसद, इलेक्ट्रॉनिक सामान और अन्य छोटे ढोने के लिए किराए पर लिया था.

अब्दुल क़ादिर के अनुसार उन्होंने ये सामान सऊदी अरब से सोमालिया की राजधानी मोगादीशू लाने के लिए इस जहाज़ को किराए पर लिया था.

उन्होंने इन ख़बरों का खंडन किया कि उस जहाज़ में कोई हथियार लदे हुए हैं.

अब्दुल क़ादिर ने कहा, "इस जहाज़ पर तीन हज़ार टन सामान्य कारोबारी सामान लदा है. ये जहाज़ दुबई से 24 अक्तूबर को रवाना हुआ था और इसे छह या सात नवंबर को सोमालिया में पहुँचना था लेकिन नहीं पहुँचा."

समाचार एजेंसी एपी के अनुसार अब्दुल क़ादिर ने एक सेटेलाइट फ़ोन के ज़रिए जहाज़ से संपर्क किया तो वहाँ से जवाब देने वाले व्यक्ति ने ख़ुद को समुद्री लुटेरा बताया और कहा कि ये जहाज़ अगवा कर लिया गया है.

अब्दुल क़ादिर ने बताया कि उस व्यक्ति ने जहाज़ को छोड़ने के बदले तीस लाख डॉलर की माँग की है.

सोमालिया में अत्यधिक ग़रीबी की वजह से समुद्री लूटपाट की घटनाएँ बहुत बढ़ रही हैं और बीते वर्ष भी समुद्री लुटेरों ने अनेक जहाज़ों को अगवा करके फिरौती के तौर पर करोड़ों डॉलर वसूले थे.

सोमालिया के इर्द-गिर्द लगभग 1880 मील यानी 3000 किलोमीटर लंबा समुद्री तट क्षेत्र है जिसमें समुद्री लुटेरों ने पिछले वर्ष यानी 2008 में 40 से ज़्यादा जहाज़ों को अगवा किया था.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार