सीरियल हमलवार गिरफ़्तार

हमलावर का स्केच
Image caption पुलिस ने पिछले साल हमलावर का स्केच जारी किया था.

लंदन पुलिस ने एक ऐसे व्यक्ति को गिरफ़्तार किया है जो अपनी हवस मिटाने और चोरी के लिए बूढ़ी महिलाओं और पुरूषों को निशाना बनाता था.

अधिकारियों के मुताबिक यह व्यक्ति रात के समय हमले करता था और इसका आपराधिक इतिहास वर्ष 1990 से शुरू होता है.

पुलिस को शक तब हुआ जब लगातार कई वर्षों तक डलविच, ऑर्पिंग्टन, नॉर्वुड, डाउनहम, ली, वेस्ट विकहम और बिकले इलाक़े में कई घरों को निशाना बनाया गया.

इन सभी हमलों में एक ही तरह की रणनीति अपनाई गई थी.

ब्रितानी पुलिस के जासूसों ने इस गिरफ़्तारी को अहमियत देते हुए कहा है कि ये एक बड़ी उपलब्धि है.

पुलिस ने गुप्त तरीके से हमलावर को पकड़ने के लिए ऑपरेशन मिन्सटीड चलाया. इसके तहत एक ही तरह के 108 आपराधिक घटनाओं की जाँच की गई.

हमलावर अधिकतर बूढ़ी महिलाओं को निशाना बनाता था लेकिन दस वृद्ध पुरूष भी उसके शिकार बने. इनमें से एक के साथ दुराचार की कोशिश की गई.

इन सबकी उम्र 68 से 93 साल के बीच थी.

पुलिस के मुताबिक हमलावर ने चार महिलाओं के साथ बलात्कार किया. इनमें से एक पीड़ित महिला बेहद नाज़ुक स्थिति में अस्पताल लाई गई.

हमलावर घर में घुसने से पहले इलेक्ट्रिक फ़्यूज और टेलीफ़ोन की तारें काट देता था ताकि वह आसानी से अपने अपराध को अंजाम दे सके.

इस महीने के शुरू में पुलिस ने बताया कि इस व्यक्ति को पकड़ने के लिए चलाए गए अभियान पर एक लाख दो हज़ार 700 पाउंड खर्च हुए.

संबंधित समाचार