पेरू में मानव चर्बी की तस्करी

पेरू पुलिस
Image caption मानव चर्बी की तस्करी

पेरू में पुलिस ने मानव चर्बी के लिए कई लोगों की हत्या करने के आरोप में चार लोगों को गिरफ़्तार किया है.

पुलिस के मुताबिक़ मानव चर्बी का इस्तेमाल यूरोप में सुंदरता बढ़ाने वाले पदार्थ बनाने में किया जाता है. ये गिरोह ज़्यादातर दूर-दराज़ के लोगों को अपना निशाना बनाता था.

नौकरी देने का लालच दिलाकर ये लोगों को फांसते थे और फिर उनको मारकर उनके शरीर से चर्बी निकाल लेते थे और चर्बी को 15 हज़ार प्रति लीटर के भाव से बाज़ार में बेच देते थे.

इटली के दो नागरिक समेत गिरोह के दूसरे सदस्य अभी फ़रार हैं. पुलिस ने बताया है कि इलाक़े से लगभग 60 लोगों के लापता होने के पीछे इसी गिरोह का हाथ हो सकता है.

आरोप

एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान पुलिस ने मानव शरीर के चर्बी से भरी दो बोतल और इस गिरोह के एक कथित भुक्तभोगी की तस्वीर मीडियाकर्मियों को दिखाई.

हत्या कि इन कथित घटनाओं में से एक वारदात संभवत: सितंबर के मध्य में हुई थी.

कोमोडोर एंजेल टोलेडो ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स को बताया कि पकड़े गए लोगों में से कुछ ने ये क़बूल कर लिया है कि उन्होंने किस तरह मानव चर्बी के लिए लोगों की हत्या की थी.

पुलिस को शक है कि ये चर्बी यूरोप में सौंदर्य बढ़ाने और दवा बनाने वाली कंपनियों को बेचा जाता था.

पेरू पुलिस के एक अधिकारी फ़ेलिक्स बुर्ग ने कहा कि ऐसे संकेत हैं कि मानव चर्बी की तस्करी का एक अंतरराष्ट्रीय जाल पेरु से काम कर रहा है.

पुलिस ने सबसे पहले इस महीने के शुरू में लीमा के एक बस अड्डे से एक आदमी को चर्बी के साथ गिरफ़्तार किया था.

उसने पुलिस को बताया कि चर्बी लीमा में दलालों को बेची जाती थी और गिरोह का सरग़ना हिलेरियो क्यूडेना दशकों से हत्याऐं कर रहा है.

पुलिस अब चर्बी ख़रीदने वालों की तलाश कर रही है. इस गिरोह को पेरू के एक प्राचीन निवासी के नाम पर पिश्ताकोस कहा जा रहा है. पिश्ताकोस कथित तौर पर सूनसान सड़कों पर चर्बी के लिए लोगों की हत्या करता था.