स्वाइन फ़्लू से चार हजयात्री मरे

मक्का ( फाइल फोटो)
Image caption हज के दौरान हज़ारों लोगों का जमा होना वायरस फैला सकता है.

सऊदी अरब में अधिकारियों का कहना है कि स्वाइन फ्लू के के कारण सालाना हज के दौरान चार हज यात्रियों की मौत हो गई है.

मरने वालों में एक भारत, एक सूडान, एक नाईजीरिया और एक मोरक्को से है. नाईजीरिया से आई लड़की मात्र 17 वर्ष की थी जबकि बाकी अन्य लोग सत्तर साल से ऊपर के थे.

स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि इन चारों विदेशी लोगों को एच1एन1 वायरस के टीके लगाए गए थे.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के आकड़ों के अनुसार अब तक दुनिया भर में स्वाइन फ़्लू से मरने वालों की संख्या 6,750 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं.

एएफपी संवाद समिति ने आधिकारिक बयान का हवाला देते हुए कहा है कि मृतकों को पहले से ही कैंसर और सांस लेने संबंधी बीमारियां थीं.

तीन लोगों की मौत मदीना में हुई जबकि एक की मौत मक्का में हुई है.

हर साल तीस लाख से अधिक मुस्लिम हज करने मक्का जाते हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने पहले ही आशंका जताई थी कि इतने लोगों का एक जगह जमा होना वायरस फैला सकता है.

अधिकारियों की कोशिश थी कि वो किसी भी तरह इस वायरस को फैलने से रोकें और इसके लिए उपाय भी किए गए थे.

एएफी ने स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता डॉ खालेद मरगलानी के हवाले से कहा है कि कम से कम 16 लोगों को स्वाइन फ़्लू है और इसमें से चार की हालत गंभीर है.

इससे पहले 12 लोग इलाज के बाद ठीक भी हुए है. सऊदी सरकार ने कहा था कि किसी को भी वीज़ा दिए जाने से पहले उनसे टीकाकरण का सर्टिफ़िकेट लिया जाए.

सितंबर महीने में मिस्र के अधिकारियों ने स्वाइन फ़्लू के डर से काहिरा में हजयात्रियों को मक्का जाने से रोक दिया था.

संबंधित समाचार