नाव डूबी, 200 बचे, 23 मरे

  • 22 नवंबर 2009
 नौका (फ़ाईल फ़ोटो)
Image caption इंडोनेशिया में एक द्वीप से दूसरे पर जाने के लिए आम तौर पर नौकाओं का इस्तेमाल किया जाता है

इंडोनेशिया के पुलिस अधिकारी का कहना है कि सुमात्रा द्वीप के पास सैंकड़ों यात्रियों से भरी एक नौका डूब गई है.

इस हादसे में कम से कम 23 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हो गई है.

यह नौका बटाम से डुमाई जा रही थी. ख़राब मौसम के कारण यह ख़तरनाक पानी की चपेट में आकर डूब गई.

रिआउ द्वीप के मुख्य पुलिस अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि इस इलाक़े में तलाश और बचाव का काम जारी है.

अधिकारियों का कहना है कि नाव पर कुल कितने लोग सवार थे इसका अंदाज़ा नहीं लग पाया है लेकिन दो सौ से ज़्यादा लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है.

ये सब अब एक दूसरी नौका पर सवार हैं.

डुमाई एक्सप्रेस-10 नामक इस नौका की आधिकारिक सूची के मुताबिक़ कश्ती पर कुल 240 लोग सवार थे जिनमें 15 बच्चे भी शामिल हैं.

आम बात

इंडोनेशिया में इस प्रकार की दुर्घटना कोई असामान्य बात नहीं है. वहां इस प्राकर की घटनाएं होती रहती हैं.

कहा जाता है कि पिछले साल इस प्रकार की घटनाओं में सैंकड़ों लोगों की मौत हो चुकी है.

लोगों का कहना है कि यह दुर्घटनाएं सुरक्षा नियमों का पालन न करने और क्षमता से अधिक यात्री बैठाने के कारण होती रहती हैं.

इंडोनेशिया की भारी जनसंख्या देश में मौजूद 17,000 द्वीपों में आबाद है और वहां के लोग एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए नौका और जहाज़ का प्रयोग करते हैं.

इन द्वीपों के बीच चलने वाली नौकाओं के सुरक्षा रिकार्ड अच्छे नहीं हैं.

इंडोनेशिया में पिछले तीन साल में नौका डूबने से 800 से अधिक लोगों मारे जा चुके हैं.

संबंधित समाचार