'वर्षों से लादेन का अता-पता नहीं'

ओसामा बिन लादेन
Image caption रॉबर्ट गेट्स का कहना है कि ओसामा बिन लादेन के बारे में ख़ुफ़िया जानकारी का अभाव है

अमरीकी रक्षा मंत्री रॉबर्ट गेट्स का कहना है कि अल क़ायदा के नेता ओसामा बिन लादेन के बारे में अमरीका को वर्षों से कोई विश्वस्त जानकारी नहीं है.

गेट्स ने एबीसी न्यूज़ को बताया, "हमें यह पता नहीं है कि ओसामा बिन लादेन कहाँ हैं. अगर हमें पता होता तो हम उन्हें पकड़ लेते."

पिछले हफ़्ते पाकिस्तान में गिरफ़्तार किए गए एक तालेबान लड़ाकू ने कहा था कि उन्हें इस बात की जानकारी है कि बिन लादेन इस वर्ष अफ़ग़ानिस्तान में थे.

लेकिन गेट्स का कहना है कि वे इस सूचना की पुष्टि नहीं कर सकते.

यह पूछने पर कि अमरीका को लादेन के बारे में पिछली बार कब अच्छी ख़ुफ़िया जानकारी थी, उन्होंने कहा, "मेरी समझ से यह वर्षों पहले की बात है."

गेट्स ने गिरफ़्तार किए गए तालेबान लड़ाकू के बारे में विस्तार से कुछ भी नहीं बताया.

इस तालेबान लड़ाकू का कहना है कि 9/11 से पहले वे लादेन से कई बार मिल चुके थे. उन्होंने बताया कि एक विश्वासपात्र से उनकी मुलाक़ात हुई जिन्होंने बिन लादेन को जनवरी या फ़रवरी में अफ़ग़ानिस्तान में देखा था.

'स्वस्थ लादेन'

इस बात की आशंका व्यक्त की जा रही थी कि लादेन पाकिस्तान-अफ़गानिस्तान सीमा के नज़दीक पाकिस्तान के क़बायली इलाक़े में छिपे हुए हैं.

हालांकि तालेबान लड़ाकू का कहना है कि अमरीकी ड्रोन हमलों से भयभीत होकर चरमपंथी पाकिस्तानी इलाक़े से दूर रहते हैं.

उन्होंने यह भी दावा किया है कि बिन लादेन स्वस्थ हैं.

हाल ही में अमरीका के राष्ट्रपति ने यह घोषणा की थी कि वे 30 हज़ार और अमरीकी सैनिकों को अफ़ग़ानिस्तान भेजेंगे.

हाल ही में अमरीकी सीनेट की एक समिति ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि आठ साल पहले ओसामा बिन लादेन अफ़ग़ानिस्तान में अमरीकी सेनाओं की पकड़ में लगभग आ चुके थे लेकिन इस कार्रवाई को अंजाम देने के लिए और अधिक सैनिक सहायता की मांग को ठुकरा दिया गया.

पिछले हफ़्ते ब्रिटेन के प्रधानमंत्री गॉर्डन ब्राउन ने पाकिस्तान ने कहा था कि लादेन को पकड़ने के लिए वह और क़दम उठाए.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री यूसुफ़ रज़ा गिलानी ने इस पर कहा कि वे नहीं समझते कि बिन लादेन पाकिस्तान में है. उन्होंने कहा कि अभी तक अमरीका ने लादेन के बारे में 'कोई विश्वस्त जानकारी या ऐसी जानकारी नहीं दी है जिस पर कार्रवाई की जा सके.'

संबंधित समाचार