'लादेन को पकड़ना या मारना ज़रूरी'

जनरल मैक्रिस्टल
Image caption सैन्य कमांडर का कहना है कि अधिक सैनिक भेजने से मदद मिल सकती है.

अमरीकी सेना के एक वरिष्ठ कमांडर ने कहा है कि अफ़ग़ानिस्तान में चरमपंथी संगठन अल क़ायदा की हार सुनिश्चित करने के लिए ओसामा बिन लादेन का पकड़ा जाना या मारा जाना ज़रूरी है.

जनरल स्टेनली मैक्रिस्टल ने अमरीकी संसद के निचले सदन कॉंग्रेस की एक समिति की बैठक में कहा कि लादेन एक 'प्रतीक' बन गया है.

उन्होंने माना कि वहां 30 हज़ार अतिरिक्त सैनिक भेजने का राष्ट्रपति ओबामा का फ़ैसला सही है और सफलता मिल सकती है.

लेकिन अफ़ग़ानिस्तान में मिल रही चुनौतियों पर जनरल मैक्रिस्टल ने चेतावनी भी दी. उनका कहना था कि अफ़ग़ान मिशन निस्संदेह बेहत मुश्किल है और अगले डेढ़ साल निर्णायक साबित होंगे.

उन्होंने कहा, "मुझे नहीं लगता कि लादेन को पकड़ने या उसके मारे जाने तक हम अल क़ायदा को हरा सकते हैं. मेरा मानना है कि वो इस समय एक प्रतीक बन चुके हैं जिनकी मौजूदगी से अल क़ायदा को पूरी दुनिया में बल मिलता है."

जनरल मैक्रिस्टल ने कहा कि लादेन को पकड़ने या मारने से अल क़ायदा का अस्तित्व भले ही ख़त्म न हो लेकिन ये तय है कि उनके पकड़ से बाहर रहने तक अल क़ायदा की मुहिम को मंद नहीं किया जा सकता.

अमरीकी रक्षा मंत्री रॉबर्ट गेट्स ने पिछले हफ़्ते कहा था कि अधिकारियों के पास लादेन के ठिकाने के बारे में कोई विश्वसनीय सूचना नहीं है.

अमरीकी सैन्य कमांडर ने कहा कि अफ़ग़ानिस्तान में तैनात अंतरराष्ट्रीय सेना विषम परिस्थितियों में चरमपंथियों से जूझ रही है और अफ़ग़ान जनता को सरकार पर उतना भरोसा नहीं है.

संबंधित समाचार