जलवायु सम्मेलन प्रभारी का इस्तीफ़ा

कोनी हेडेगार्ड
Image caption कोनी हेडेगार्ड ने कहा है कि वे प्रधानमंत्री के विशेष दूत के रूप में काम करती रहेंगी.

कोपेनहेगन में चल रहे संयुक्त राष्ट्र के जलवायु परिवर्तन सम्मेलन की प्रभारी कोनी हेडेगार्ड ने अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया है.

उन्होंने अपने इस्तीफ़े को एक प्रक्रियागत मामला बताया है. हेडेगार्ड की जगह डेनमार्क के प्रधानंत्री लार्स लोके रासमुसेन लेंगे.

कोपेनहेगन सम्मेलन में अभी ग्रीन हाउस गैसों के उत्सर्जन में कटौती और ग़रीब देशों को दी जाने वाली सहायता पर गतिरोध बना हुआ है.

अफ़वाहें

हेडेगार्ड ने कहा, ''इस समय कई देशों के राष्ट्राध्यक्ष और सरकारों के प्रमुख आ रहे हैं ऐसे में यह सही होगा कि डेनमार्क के प्रधानमंत्री ही अध्यक्षता करें.''

उन्होंने यह साफ़ किया कि वे वार्ताओं में रासमुसेन के विशेष प्रतिनिधि की हैसियत से भाग लेती रहेंगी.

हेडेगार्ड की उनके पद से हटाने की अफ़वाहें संयुक्त राष्ट्र के जलवायु परिवर्तन सम्मेलन के शुरू होने के समय से ही चल रही थीं.

वहीं सूत्रों का कहना है कि डेनमार्क के प्रधानमंत्री कार्यालय और हेडेगार्ड के विभाग के बीच गहरे मतभदे थे.

कंजरवेटिव हेडेगार्ड 1984 में पहली बार संसद के लिए चुनी गई थी. उस समय वे देश की सबसे युवा सांसद थी. उन्हें 2004 में पर्यावरण मंत्री बनाया गया.

कोपेनहेगन में मौज़ूद बीबीसी के पर्यावरण संवाददाता रिचर्ड ब्लैक के मुताबिक़ विकासशील देशों ने आरोप लगाया है कि डेनमार्क ने वार्ताओं को इस तरह तय किया है कि उनके परिणाम उसी तरह आएँ जैसा कि यूरोपीय संघ चाहता है.

भविष्य में विकसित देशों की ओर से ग्रीन हाउस गैसों में की जाने वाली कटौती पर वार्ता कर रहे समूह के अध्यक्ष जॉन एशे ने बताया है कि वहाँ कोई आम सहमति नहीं थी.

संबंधित समाचार