नाराज़ हॉकी खिलाड़ी फिर हड़ताल पर

भारतीय हॉकी खिलाड़ी
Image caption खिलाड़ी फिर से बग़ावत पर उतरे

भारतीय हॉकी में विश्व कप से पहले शुरू हुआ विवाद सुलझते-सुलझते फिर उलझ गया है.

असंतुष्ट हॉकी खिलाडियों ने अपने वेतन और भत्तों की मांग को लेकर सोमवार से फिर अभ्यास सत्र के बहिष्कार का फ़ैसला किया है.

हॉकी इंडिया ने खिलाड़ियों के साथ शनिवार रात अफ़रातफ़री में जो समझौता किया,वो एक दिन भी नहीं टिक पाया.

हॉकी इंडिया के अधिकारियों के साथ बातचीत में शामिल रहे खिलाड़ी अर्जुन हलप्पा ने बीबीसी को बताया, "शनिवार की बैठक से हम छह खिलाड़ी वापस आए और बाद में हम सभी 22 खिलाड़ियों ने एक बैठक की. इस बैठक में हमने तय किया कि जब तक हमारी मांगें पूरी नहीं होती, तब तक हम अभ्यास सत्र में नहीं जाएंगे."

शनिवार को काफ़ी लंबी चली बैठक के बाद हॉकी इंडिया और खिलाड़ियों के बीच विवाद का निपटारा हो गया था और खिलाड़ियों ने विश्व कप के लिए पुणे में चल रहे अभ्यास सत्र में लौटने का भी ऐलान कर दिया था.

हॉकी इंडिया के अध्यक्ष एके मट्टू ने कहा था कि विवाद अब सुलझ गया है लेकिन किस तरह का समझौता हुआ, इसकी उन्होंने और जानकारी नहीं दी थी.

विवाद

टीम के कप्तान राजपाल सिंह ने भी पत्रकारों को बताया था कि मामला सुलझ गया है. लेकिन खिलाड़ियों के अचानक पलटे रुख़ से बाज़ी फिर पलट गई.

ये विवाद तब शुरू हुआ था जब कप्तान राजपाल सिंह समेत अन्य खिलाड़ियों ने वेतन और प्रोत्साहन राशि की मांग करते हुए पुणे मे चल रहे अभ्यास कैंप का बहिष्कार कर दिया था.

उन्होने इस मुद्दे पर असंतोष जताते हुए कहा था कि खिलाड़ियों को वेतन तो मिलता नहीं है.

हॉकी का विश्व कप 28 फ़रवरी से 13 मार्च तक दिल्ली में खेला जाना है.

संबंधित समाचार