हेती में बचाव अभियान बंद

हेती
Image caption भूकंप के बाद मलबे से जीवित निकाले गए

हेती सरकार ने भूकंप के 11 दिन बाद मलबे से जीवित लोगों की तलाश और बचाव के अभियान को बंद कर दिया है.

संयुक्तराष्ट्र की एक प्रवक्ता ने हेती सरकार के इस फ़ैसले को दिल तोड़ने वाला बताया, लेकिन साथ ही ये भी कहा कि हेती सरकार ने विशेषज्ञों की सलाह पर ये क़दम उठाया है.

उल्लेखनीय है कि भूकंप आने के 10 दिन बाद कल यानि शुक्रवार को भी राजधानी पोर्ट-अउ-प्रिंस में मलबों से दो लोगों को जीवित निकाला गया था. लेकिन बचाव कार्य पर नज़र रख रहे अधिकारियों का कहना है कि पिछले दिनों के दौरान मलबों के भीतर से जीवन के कोई नए संकेत नहीं मिले हैं.

बचाव अभियान बंद करने के हेती सरकार के फ़ैसले के बाद अधिकतर बचाव दल अपने-अपने देश वापस लौट रहे हैं.

हालाँकि उन दलों के कुछ लोग हेती में रुके रहेंगे जिनके पास मलबे हटाने की भारी मशीनरी है. इन उपकरणों के ज़रिए वे राहत कार्य में मदद करेंगे.

इस बीच संयुक्तराष्ट्र का कहना है कि एक लाख तीस हज़ार बेघरों को पोर्ट-अउ-प्रिंस से बाहर के शिविरों में स्थानान्तरित किया जा चुका है, ताकि राजधानी के शिविरों को साफ़-सुथरा रखा जा सके.

विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि राजधानी में भूकंप-पीड़ितों के शिविरों की ख़राब स्थिति के बावजूद वहाँ कोई महामारी फैलने के कोई लक्षण नहीं दिखे हैं.

एक अच्छी ख़बर विश्व खाद्य कार्यक्रम के तरफ़ से भी आई है. उसका कहना है कि हेती में अब पर्याप्त ईंधन मौजूद है.

होप फ़ॉर हेती

उधर अमरीका में कलाकारों ने कल रात हेती के भूकंप-पीड़ितों के लिए धन जमा करने के उद्देश्य से दो घंटे का विशेष कार्यक्रम आयोजित किया. अमरीका के सभी प्रमुख टेलीविज़न चैनलों पर लाइव प्रसारित किए गए कार्यक्रम 'होप फ़ॉर हेती' में लॉस एंजलिस, न्यूयॉर्क और लंदन से मैडोना, बेयोन्से, क्लिन्ट ईस्टवुड, टॉम हैंक्स, ब्रैड पिट और निकोल किडमैन जैसे कई बड़े स्टार शामिल हुए.

'होप फ़ॉर हेती' के आयोजन में मुख्य भूमिका हॉलीवुड स्टार जॉर्ज क्लूनी की थी. वे कार्यक्रम के सूत्रधार भी थे.

हेती के भूकंप-पीड़ितों के लिए सहायता की अपील करते हुए क्लूनी ने कहा, “हर धर्म की बुनियाद में ये विश्ववास होता है कि हम एक-दूसरे की मदद करें, एक-दूसरे को संभालें, ख़ास कर मुश्किल घड़ियों में. इस समय हेती के लोगों को हमारी मदद की ज़रूरत है. उन्हें भरोसा दिलाया जाना चाहिए कि वे अकेले नहीं हैं. हम उन्हें बताएँ कि हमें उनकी चिंता है.”

बीबीसी हेती रेडियो

इस बीच बीबीसी ने हेती के लिए आज से एक विशेष रेडियो कार्यक्रम शुरू किया है. 'कनेक्शन-हेती' नामक ये कार्यक्रम हेती में सबसे ज़्यादा बोली जाने वाली क्रेयोल भाषा में है.

अमरीका में मयामी से प्रसारित इस कार्यक्रम को हेती के छह बड़े शहरों में स्थानीय एफ़एम रेडियो पर रिले किया जाएगा. कार्यक्रम में भूकंप-पीड़ितों के लिए उपयोगी सूचनाएँ और संदेश प्रसारित किए जाएंगे.

संबंधित समाचार