हमास नेता की दुबई में 'हत्या'

महमूद अल-मबहूह
Image caption मबहूह ने फ़लस्तीन में इज़्ज़ेदीन अल-क़स्साम ब्रिगेड की स्थापना की थी

सीरिया में फ़लस्तीनी हमास आंदोलन के एक बड़े नेता महमूद अल-मबहूह के जनाज़े में शुक्रवार को हज़ारों लोगों ने भाग लिया.

हमास ने आरोप लगाया है कि इसराइल ने पिछले हफ़्ते दुबई में 50 वर्षीय मबहूह की हत्या करवा दी थी.

जनाज़े में शामिल लोगों से हमास के एक नेता ख़ालिद मिशाल ने कहा, “मबहूह का बेटा उनकी मौत का बदला लेगा.”

महमूद अल-मबहूह ने इज़्ज़ेदीन अल-क़स्साम ब्रिगेड की स्थापना की थी.

हमास ने इसके अलावा कोई और विवरण नहीं दिया लेकिन उसने कहा है कि ‘यहूदियों के इस जुर्म का मुनासिब मौक़ा आने पर बदला लिया जाएगा.’

इसराइली सरकार के प्रवक्ता से जब हमास के इस वक्ततव्य पर टिप्पणी मांगी गई तो उसका कोई जवाब नहीं दिया गया.

एक समाचार एजेंसी एएफ़पी ने ख़बर दी है कि दुबई प्रशासन ने यूरोपीय पासपोर्ट रखने वाले कुछ लोगों पर इस मामले में शक ज़ाहिर किया है.

'अपराधी पेशेवर थे'

एक बयान में कहा गया है, “ऐसा लगता है कि यह काम किसी पेशेवर अपराधी गुट का है जो संयुक्त अरब अमीरात आने से पहले से उनका पीछा कर रहा था.”

इस में यह भी कहा गया है कि इस गुट के सदस्य हत्या की ख़बर से पहले ही संयुक्त अरब अमीरात से फ़रार होने में कामयाब हो गए.

महमूद अल-महबूह काफ़ी दिनों से सीरिया में रह रहे थे. उनपर 1989 में दो इसराइली फ़ौजियों का अपहरण करके उनकी हत्या करने की योजना में शामिल होने का आरोप था.

हमास के एक नेता इज़्ज़त अर-रश्क़ के अनुसार महमूद की मौत उसी दिन हुई जिस दिन वे दुबई पहुंचे थे.

उन्होंने कहा, “मैं इसका विवरण तो नहीं दे सकता लेकिन हम संयुक्त अरब अमीरात के प्रशासन के साथ मिल कर काम कर रहे हैं.”

इज़्ज़ेदीन अल-क़स्साम गुट ने इसराइलियों को निशाना बनाने के लिए कई हमले किए हैं.

संबंधित समाचार