अनवर इब्राहीम पर मुकदमा

  • 2 फरवरी 2010
अनवर इब्राहिम
Image caption अनवर इब्राहिम अपनी पत्नी के साथ अदालत पहुंचे

मलेशिया के पूर्व उपप्रधानमंत्री और विपक्षी नेता अनवर इब्राहीम एक बार फिर अप्राकृतिक यौन संबंधों के आरोप में अदालत में पेश हुए हैं.

उल्लेखनीय है कि मलेशिया में एक पुरुष का दूसरे पुरुष से अप्राकृतिक यौन संबंध रखना अपराध है.

अनवर इब्राहीम यदि इस मुक़दमे में दोषी पाए जाते हैं, तो उन्हें 20 साल तक की जेल की सज़ा हो सकती है.

अदालत की कार्रवाई कुछ देर बाद स्थगित कर दी गई, लेकिन इस दौरान अनवर इब्राहीम के समर्थकों ने नारे लगाए.

1998 में सत्ता से अचानक निकाले गए अनवर इब्राहीम हालांकि अप्राकृतिक संबंधों के आरोप में पहले भी 6 साल की जेल की सज़ा काट चुके हैं, लेकिन 2008 के चुनावों में विपक्षी दलों की जीत का श्रेय भी उन्हीं को जाता है.

अनवर इब्राहीम 50 सालों तक सत्ता में रहे प्रधानमंत्री नजीब रज़ाक के गठबंधन के लिए एक बड़ी चुनौती साबित हो रहे हैं.

अनवर इब्राहीम अपनी पत्नी और दो बेटियों के साथ जैसे ही अदालत में पेश हुए, वहां पर जमा उनके कई समर्थकों ने सुधार की मांग करते हुए नारे लगाने शुरू कर दिए.

62 वर्षीय पूर्व उपप्रधानमंत्री अनवर इब्राहीम शुरू से ही ये कह रहे हैं कि उनके ख़िलाफ़ लगाए आरोप एक राजनीतिक साजि़श का हिस्सा हैं.

उन्होंने मुक़दमे की कार्रवाई को कुछ भ्रष्ट लोगों की साज़िश बताया.

मुक़दमे से पहले अनवर इब्राहीम ने बीबीसी को बताया, "पहले तो हम अपना पक्ष सामने रखेंगे, मुकाबला करेंगे, और उन लोगों की घृणित साज़िश का पर्दाफ़ाश करेंगे. हम अपने सुधारवादी एजेंडा के लिए प्रतिबद्ध हैं. लोकतंत्र के लिए प्रतिबद्ध हैं और इसके लिए हम में से कुछ को क़ीमत भी चुकानी पड़ सकती है."

उधर सरकारी अधिकारियों ने अनवर इब्राहीम के ख़िलाफ़ किसी भी तरह की साज़िश के आरोपों से इंकार किया है.

अनवर इब्राहीम के एक 24 वर्षीय पुरुष सहयोगी ने उन पर अप्राकृतिक संबंध बनाने का आरोप लगाया है.

शुक्रवार को संघीय अदालत ने निचली अदालत के उस फ़ैसले को बरक़रार रखा, जिसमे कहा गया था कि उन्हें मेडिकल रिपोर्ट पर आधारित वह सबूत नहीं दिखाए जा सकते, जो सरकारी वकील के पास हैं.

अनवर के वकील ने कहा है कि इस इंकार से बचाव पक्ष पर बुरा असर पड़ेगा.

मानवाधिकार संगठनों ने इस मुकदमे की निंदा की है. एमनैस्टी इंटरनैशनल का कहना है कि सरकार अपनी उसी पुरानी चाल के तहत विपक्षी नेता को राजनीति से हटाना चाहती है.

एक दशक पहले जब पहली बार अनवर इब्राहीम को अप्राकृतिक यौन संबंधों के आरोप में दोषी ठहराया गया था तो बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हुए थे.

करिश्माई व्यक्तित्व

एक करिश्माई व्यक्ततित्व के रूप में अनवर इब्राहीम का राजनीतिक सफ़र एक छात्र के रूप मे शुरू हुआ, और बड़ी तेज़ी से वे देश के उपप्रधानमंत्री पद तक पहुंच गए.

मलेशिया के सुधारवादी प्रधानमंत्री महाथिर मोहम्मद के उत्तराधिकारी माने जाने वाले अनवर इब्राहीम सन 1998 में उस समय सत्ता से हटा दिए गए जब महाथिर मोहम्मद सत्ता से बाहर हुए.

1998 मे ही अनवर इब्राहीम पर भ्रष्टाचार और समलैंगिकता के आरोप मे मुक़दमा चलाया गया औऱ उन्हें छह साल की सज़ा हुई.

विवादों मे घिरने के बावजूद आज भी वो देश के सबसे प्रमुख विपक्षी नेता है.

अपनी लोकप्रिय छवि के कारण अनवर इब्राहीम अपने राजनीतिक सफ़र में शुरू से ही सफल नेता के तौर पर जाने गए.

उन्होंने देश के बिखरे हुए अल्पसंख्यकों के दलों को एक छत के नीचे इकट्ठा कर उनके गठबंधन की कमान संभाली.

अप्राकृतिक संबंधों के विवाद मे घिरे अनवर इब्राहीम के तूफ़ानी करियर को ये ताज़ा मुक़दमा या तो औऱ धारदार बना देगा या फिर बिल्कुल तबाह कर देगा, लेकिन प्रधानमंत्री नजीब रज़ाक अपनी इस ताज़ा रणनीति पर एक बड़ा ख़तरा ज़रूर उठा रहे हैं.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार