कांगो में 33 भारतीय गिरफ़्तार

  • 2 फरवरी 2010
कांगो के एक शहर के एक बाज़ार का नज़ारा
Image caption कांगो अफ़्रीक़ा का तीसरा बड़ा देश है जबकि लुबुंबाशी एक बड़ा औद्योगिक केंद्र है.

कांगो गणराज्य की पुलिस ने अवैध शराब उत्पादन के मामले में 33 भारतीयों को गिरफ़्तार किया है.

ये गिरफ़्तारियाँ पिछले हफ़्ते लुबुंबाशी शहर में हुई हैं.

गिरफ़्तार किए गए भारतीयों पर आरोप हैं कि इन लोगों ने अवैध तरीक़े से शराब का उत्पादन किया जिसमें अल्कोहल की मात्रा क़रीब 47 प्रतिशत है.

ये मानक से बहुत ही अधिक है और इसके पीने से गुर्दे फ़ौरन ख़राब हो सकते हैं.

ख़बर है कि इस शराब के पीने के बाद कुछ लोगों की मौतें भी हुई हैं.

गिरफ़्तारी की पुष्टि

लुबुंबाशी के गवर्नर मोइज़े कुतुंबी ने बीबीसी से इन गिरफ़्तारियों की पुष्टि की है और कहा है कि उनके ऊपर गिरफ़्तार लोगों को छोड़ने का काफ़ी दबाव है.

उनका कहना था कि वो किसी भी दबाव में नहीं आएंगे और इन भारतीयों को क़ानूनी प्रक्रिया से गुज़ारना होगा.

राजधानी किंशासा स्थित भारतीय दूतावास ने इस मामले पर कोई प्रतिक्रिया देने से इंकार कर दिया है, पर उनका कहना था कि दूतावास के एक उच्च अधिकारी इस सिलसिले में लुबुंबाशी गए हुए हैं.

लुबुंबाशी, अफ़्रीक़ा के तीसरे बड़े देश कांगो गणराज्य का एक बड़ा औद्योगिक केंद्र है.

पिछले हफ़्ते हुए इन गिरफ़्तारियों से वहां मौजूद भारतीयों के बीच डर का माहौल है और ऐसी अपुष्ट खबरें भी हैं कि क़रीब 30 इसी वजह से भूमिगत हो गए हैं.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार