मोटापे के ख़िलाफ़ मिशेल ओबामा

  • 10 फरवरी 2010
मिशेल ओबामा
Image caption मिशेल ओबामा अमरीकी बच्चों में बढ़ते मोटापे पर चिंतित हैं.

अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा की पत्नी मिशेल ओबामा ने बच्चों में मोटापा घटाने के लिए एक देशव्यापी अभियान शुरू किया है.

मिशेल ओबामा का कहना है कि देश के बच्चों में बढ़ रहे मोटापे से अमरीका के भविष्य को खतरा हो सकता है.

मिशेल ओबामा एक ऐसा महत्वाकांक्षी कार्यक्रम चलाने की योजना बना रहीं हैं जिससे बच्चों में मोटापे की समस्या का एक पीढ़ी के भीतर ही हल निकाला जा सके.

'लेट्स मूव कैम्पेन' नामक ये अभियान बच्चों को स्कूल में दिए जाने वाले आहार में पोषक तत्त्व बढ़ाने पर ज़ोर देगा. इस अभियान के तहत अमरीका के पौष्टिक आहार से वंचित इलाकों में इसकी उपलब्धता पर भी ज़ोर दिया दिया जायेगा. बजट का वादा

मिशेल ओबामा ने ये भी साफ़ किया है की मंगलवार को शुरू हो रहा ये अभियान सिर्फ उनकी ज़िम्मेदारी नहीं होगी. उन्होंने इस अभियान के सफल होने के लिए राजनेताओं, मनोरंजन जगत की मशहूर हस्तियों और नामचीन खिलाडियों से भी अभियान में जुड़ने की बात कही है.

मिशेल ओबामा के मुताबिक़ मोटापे की समस्या से जूझ रहे बच्चों के माता-पिता, व्यवसाय और स्थानीय प्रशासन को भी इस मुहिम में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेना होगा.

बच्चों के माता-पिता को खा़सतौर पर इस बात का प्रोत्साहन दिया जायेगा की वे अपने बच्चों को खेल-कूद और घूमने-फिरने की गतिविधियों में बढ़ावा दें.

खुद मिशेल ओबामा ने सबके समक्ष एक उदाहरण देते हुए राष्ट्रपति निवास व्हाइट हाउस में 'हुला-हूप' नामक एक कार्यक्रम शुरू किया है जिसमे बच्चों के नियमित व्यायाम करने पर जोर है.

अमरीका की एक पत्रिका से बात करते हुए मिशेल ओबामा ने कहा, "अपने बच्चों को खेल-कूद में अव्वल बनाने के लिए और फिट रखने के लिए मैं ज़मीन-आसमान एक कर दूँगी."

खान-पान में बदलाव

अमरीका में बीबीसी संवाददाता का कहना है कि अपनी दोनों पुत्रियों के वज़न और उनके स्वास्थ्य कि सार्वजनिक चर्चा करने पर मिशेल ओबामा की आलोचना भी हुई है.

श्रीमती ओबामा ने इस बात को उजागर किया था की कैसे एक डॉक्टर ने उनकी पुत्रियों के बढे़ हुए वज़न को टोका था, जिसके चलते ओबामा दंपत्ति ने चीनी से लैस पेय पदार्थ और हैमबर्गर जैसी खाने-पीने की चीज़ों में कटौती की है.

बराक़ और मिशेल ओबामा ने अपनी पुत्रियों के लम्बे समय तक टेलीविज़न के सामने बैठे रहने पर भी पाबंदी लगा दी है.

आलोचकों का मत है की ओबामा दंपत्ति को इस तरह सार्वजनिक रूप से अपनी पुत्रियों के बढ़ते वज़न की चर्चा नहीं करनी चाहिए थी.

संबंधित समाचार