संदिग्धों के ख़िलाफ़ इंटरपोल सक्रिय

मबहूह

दुबई में हमास के एक कमांडर की हत्या के मामले में 11 संदिग्ध लोगों को इंटरपोल ने वैसे लोगों की सूची में शामिल कर लिया है, जिनकी तलाश है.

इंटरपोल ने इन संदिग्ध लोगों की तस्वीरें भी जारी की हैं. इंटरपोल ने उन लोगों के नाम भी बताए हैं, जिनके नाम इस्तेमाल इन संदिग्धों ने किया था.

दुबई के पुलिस प्रमुख का कहना है कि उन्हें इस बात का 99 प्रतिशत भरोसा है कि इसराइली ख़ुफ़िया सेवा के एजेंट हमास के कमांडर महमूद अल मबहूह की हत्या में शामिल हैं.

लेकिन इसराइल का कहना है कि इसका कोई सबूत नहीं है.

ब्रिटेन ने इस बात पर नाराज़गी जताई है कि इस मामले में छह ब्रितानी लोगों के पासपोर्ट का इस्तेमाल किया गया है.

नोटिस

इंटरपोल ने इन संदिग्ध लोगों के ख़िलाफ़ 'रेड नोटिस' जारी किया है, हालाँकि उनके ख़िलाफ़ गिरफ़्तारी का अंतरराष्ट्रीय वारंट जारी नहीं किया गया है.

रेड नोटिस के तहत संदिग्धों की गिरफ़्तारी का अनुरोध किया जाता है जबकि प्रत्यर्पण का मामला विचाराधीन रहता है.

इंटरपोल का मानना है कि संदिग्धों ने असली लोगों की पहचान चुरा कर उनके नामों का उपनाम की तरह इस्तेमाल किया.

इंटरपोल का कहना है कि वह इन संदिग्धों के नाम और तस्वीरें इसलिए जारी कर रहा है ताकि हत्या के ये अभियुक्त उन ग़लत पासपोर्टों का इस्तेमाल करके मुक्त रूप से घूमते न रहें.

इंटरपोल के महासचिव रोनाल्ड के नोबेल ने कहा, "हम नहीं मानते कि हम इन लोगों की असली पहचान जानते हैं."

उन्होंने उम्मीद जताई कि जाँच के बाद वे लोग निर्दोष साबित होंगे, जिनकी पहचान चुरा कर उसका ग़लत इस्तेमाल किया गया.

मांग

इंटरपोल के इस क़दम के बाद दुबई के पुलिस प्रमुख दाही ख़लफ़ान तमीम ने इसराइली ख़ुफ़िया सेवा मोसाद के प्रमुख के ख़िलाफ़ रेड नोटिस जारी करने की मांग की.

Image caption दुबई के होटल में मबहूह के आने के समय का सीसीटीवी फुटेज

ब्रिटेन, आयरलैंड और फ़्रांस समेत कई यूरोपीय देशों ने इसराइल पर इस बात के लिए दबाव बढ़ाया है कि अगर उसके पास हमास के कमांडर की हत्या के बारे में कोई जानकारी है, तो वह उसे उपलब्ध कराए.

हमास के कमांडर महमूद अल मबहूह की हत्या दुबई के होटल में 20 जनवरी को कर दी गई है.

ब्रिटेन के विदेश मंत्री डेविड मिलिबैंड ने कहा है कि वे इस मामले की तह तक जाएँगे. लेकिन ब्रिटेन में इसराइल के राजदूत रॉन प्रोसर ने कहा है कि वे इस मामले में और जानकारी देने में असमर्थ हैं.

संबंधित समाचार