सिर्फ़ दो दिन के लिए पादरी

  • 20 फरवरी 2010
चर्च (फ़ाइल फ़ोटो)
Image caption पादरी बनने के लिए अधिकतम आयु सीमा चालीस साल रखी गई है

ऑस्ट्रिया की राजधानी वियना के पास स्थित एक चर्च ने आम लोगों को पादरी बनने का मौका देने की अनूठी पेशकश की है.

लेकिन उनकी नियुक्ति स्थायी तौर पर नहीं होगी बल्कि सिर्फ़ दो दिनों के लिए.

योजना के मुताबिक सप्ताह के अंत में स्थानीय लोगों को पादरी बनने का मौका दिया जा रहा है.

दरअसल मारिया इनजेर्सडॉर्फ नामक मोनेस्ट्री में पादरियों की ज़रूरत है और स्थायी नियुक्ति नहीं करके स्थानीय लोगों को मौका देने की पेशकश की गई है.

मारिया इनजेर्सडॉर्फ चर्च का इतिहास लगभग 600 साल पुराना है.

आम लोगों को सप्ताह के अंत में पादरियों के साथ प्रार्थना करने का मौका दिया जाएगा.

धर्म गुरुओं का कहना है कि वे पादरी के रूप में लोगों को जीवन के वास्तविक स्वरूप से परिचित कराना चाहते हैं. इन लोगों ने पादरी बनने के लिए पुरुषों की अधिकतम आयु सीमा 40 वर्ष निर्धारित की है.

यह एक निःशुल्क योजना है जिसकी शुरुआत पिछले साल अक्तूबर में हुई थी. तब से लेकर अभी तक तीन लोग पादरी बनने पर विचार कर रहे हैं.

और यह योजना सिर्फ पुरुषों के लिए ही नहीं है. ईसाई नन भी सप्ताह के आखिर में सिस्टर बनाने की पेशकश रही हैं.

संबंधित समाचार