प्रमोद महाजन के भाई प्रवीण नहीं रहे

Image caption प्रवीण महाजन जो अपने भाई प्रमोद महाजन की हत्या के लिए आजीवन कारावास भोग रहे थे

भारतीय जनता पार्टी के शक्तिशाली नेता प्रमोद महाजन की हत्या के लिए आजीवन कारावास की सज़ा काट रहे उनके भाई प्रवीण महाजन का निधन हो गया है.

पिछले साल नवम्बर में उन्हे विशेष अवकाश पर रिहा किया गया था. इस अवकाश की अवधि समाप्त होने के कुछ दिन पहले उन्होंने उच्च रक्तचाप और सिर दर्द की शिकायत की.

11 दिसम्बर को उन्हे थाने के जुपिटर अस्पताल में भर्ती कराया गया. जांच के बाद पता चला कि उन्हे ब्रेन हैमरेज हो गया था. बाद में वो कोमा में चले गए और बुधवार को उनकी मृत्यु हो गई.

प्रवीण ने 22 अप्रैल, 2006 को बड़े नाटकीय अंदाज़ में प्रमोद महाजन की गोली मार कर हत्या कर दी थी.

प्रवीण वर्ली स्थित अपने भाई के घर पहुंचे और दोनों भाइयों के बीच कहा सुनी हुई. जिसके बाद प्रवीण ने रिवॉल्वर से अपने भाई पर हमला किया और फिर मुम्बई के वर्ली पुलिस स्टेशन में आत्मसमर्पण कर दिया. प्रमोद महाजन का तीन मई को निधन हो गया था.

प्रवीण महाजन को 18 दिसम्बर, 2007 में आजीवन कारावास का दंड सुनाया गया था.

Image caption भारतीय जनता पार्टी के शक्तिशाली नेता प्रमोद महाजन

प्रमोद महाजन भारतीय जनता पार्टी के एक प्रमुख और शक्तिशाली नेता थे.

वो राज्य सभा के सदस्य और पार्टी के महासचिव थे.

उन्होंने भारत में आई संचार क्रांति में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी.

जब वो संसदीय मामलों के मंत्री बने तो काफ़ी सफल रहे क्योंकि उनके अन्य राजनीतिक पार्टियों के नेताओं से अच्छे संबंध थे.

प्रमोद महाजन के बेटे राहुल महाजन एक रियलटी शो में हिस्सा ले रहे हैं जिसमें उनकी शादी छह मार्च को होनी है. ख़बरें हैं कि ये तयशुदा कार्यक्रम के अनुसार होगी.