इराक़ में मतदान के पहले दिन हिंसा

बग़दाद मे धमाका
Image caption दो मतदान केंद्रों को निशाना बनाया गया जहाँ सैनिक मतदान कर रहे थे

इराक़ में संसदीय चुनाव के लिए मतदान शुरु होने के पहले दिन बग़दाद में कम-से-कम 14 लोग मारे गए हैं.

इराक़ में चुनाव रविवार को है लेकिन सैनिकों, सरकारी अधिकारियों, कै़दियों और मरीज़ों के लिए तीन दिन पहले से ही मतदान की व्यवस्था की गई है.

मगर मतदान के पहले दिन दो मतदान केंद्रों पर आत्मघाती हमले हुए हैं जिनसे कम-से-कम सात जवान मारे गए हैं और कई घायल हो गए हैं.

इसके अतिरिक्त बग़दाद में एक भीड़ भरे बाज़ार में भी मोर्टार हमला हुआ जिससे सात लोग मारे गए और कम-से-कम 10 लोग घायल हो गए.

इराक़ी संसदीय चुनाव में लगभग दो करोड़ मतदाता छह हज़ार उम्मीदवारों के भाग्य का फ़ैसला करेंगे.

रविवार को होनेवाले मुख्य मतदान से पहले मतदान में हिस्सा लेनेवाले लोगों की संख्या छह से सात लाख समझी जा रही है.

हमले

Image caption दो मतदान केंद्रों को निशाना बनाया गया जहाँ सैनिक मत डाल रहे थे

पहला आत्मघाती हमला बग़दाद के मंसूर इलाक़े में हुआ जहाँ एक हमलावर ने एक मतदान केंद्र पर धमाका किया जिससे तीन सैनिक मारे गए और 15 घायल हो गए.

इसके एक घंटे से भी कम समय के बाद मध्य बग़दाद में दूसरा आत्मघाती बम हमला हुआ जिससे कम-से-कम चार सैनिक मारे गए और 10 अन्य घायल हो गए.

वैसे सबसे पहला हमला पश्चिमोत्तर बग़दाद में हुआ मगर उसके बारे में विरोधाभासी जानकारियाँ मिल रही हैं.

एजेंसी एएफ़पी के अनुसार एक मोर्टार से मतदान केंद्र को निशाना बनाने की कोशिश की गई थी लेकिन वो एक बाज़ार में जा गिरा जिससे सात लोग मारे गए जिनमें चार बच्चे थे.

वहीं दूसरी रिपोर्टों में कहा जा रहा है कि धमाका सड़क पर छिपाकर लगाए गए एक बम से हुआ या फिर रॉकेट से एक ऐसे स्कूल के पास हमला हुआ जहाँ मतदान केंद्र बनाया जाना था.

इन हमलों से एक दिन पहले बुधवार को बक़ूबा में एक अस्पताल में तीन आत्मघाती हमलावरों ने धमाका कर कम-से-कम 30 लोगों को मार डाला था.

संबंधित समाचार

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है