कर्ज़ उतारना है तो द्वीप बेचें

  • 5 मार्च 2010
ग्रीस
Image caption यूरोपीय संघ का ग्रीस पर द्वीपें बेचने का दबाव.

जर्मन चांसलर एंगेला मर्केल ने कहा है कि ग्रीस को कर्ज़ से उबरने के लिए उसे अपने कुछ वीरान द्वीपों को बेच देना चाहिए.

जर्मनी के नेताओं ने बिल्ड डैली समाचार पत्र से कहा है कि ग्रीस को अपनी संपत्ति का कुछ हिस्सा बेचकर नकदी बढ़ानी चाहिए.

ये बात तब कही गई है जब ग्रीस और जर्मनी के नेता इसी सप्ताह बर्लिन में आर्थिक संकट पर बातचीत करने वाले हैं. ये बातचीत ग्रीस के प्रधानमंत्री जॉर्ज पॉपेंड्रयू और जर्मन चांसलर एंगेला मर्केल के बीच होगी.

माना जा रहा है कि ये विचार यूरोप के नेताओं का है.

यूरोपीय संघ के नेता फ्रैंक स्कैफ़लर ने कहा कि जो दिवालियापन का सामना कर रहे हैं उन्हें कर्ज़ उतारने के लिए अपना सब कुछ बेच देना चाहिए.

यूरोप के नेताओं ने चांसलर मर्केल को सलाह दिया है कि वो बर्लिन में होने वाली बैठक में ग्रीस के प्रधानमंत्री से किसी भी तरह की आथिर्क मदद का वादा ना करें.

गुरुवार को प्रकाशित एक सर्वेक्षण के अनुसार, 84 फ़ीसदी जर्मन चाहते हैं कि यूरोपीय संघ ग्रीस को इस संकट से उबरने में मदद ना करें.

ग्रीस में क़रीब 6000 द्वीपें हैं जिसमें से 227 द्वीपों की हालत ख़राब है. दुनिया भर के धनी लोग इन द्वीपों के मालिक है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार