बर्ख़ास्त यौनकर्मी ने अदालत में गुहार लगाई

यौनकर्मी
Image caption तीन जज इस मामले पर विचार कर रहे हैं.

दक्षिण अफ़्रीका के एक मसाज पार्लर में काम करने वाली एक युवती ने अपनी बर्ख़ास्तगी के विरोध में अदालत का दरवाजा खटखटाया है.

केपटाउन स्थित इस मसाज पार्लर में काइली अपने ग्राहकों का चयन खुद करती थी.

वह अपने पुरुष मित्र के साथ भी समय भी बिताती थी लेकिन उसकी सेवाओं के बदले में उसे पैसे नहीं मिलते थे.

जज ने कहा कि उन्हें ये नहीं पता कि अवैध गतिविधियों में लिप्त कोई आदमी अपनी बर्ख़ास्तगी को कोर्ट में कैसे चुनौती दे सकता है.

लेकिन काइली के वकील ने कहा कि उनके मुवक्किल का मुक़दमा अन्यायपूर्ण बर्ख़ास्तगी को लेकर है न कि यौन संबंध बनाने के पेशे को लेकर.

कई बार कई अदालतों ने इस मामले को सुनने से इनकार कर दिया था क्योंकि वेश्यावृत्ति अवैध है.

अब लेबर अपील्स कोर्ट के तीन जज इस पर विचार कर रहे हैं कि वे इस मामले में दखल दे सकते हैं या नहीं.

संबंधित समाचार