अमरीकी दूत का इसराइल दौरा टला

Image caption यरुशलम में फ़लस्तीनियों और इसराइली सुरक्षा बल के बीच झड़पें हुई हैं

मध्य पूर्व के लिए अमरीकी दूत जॉर्ज मिचेल ने इसराइल का अपना दौरा फिलहाल टाल दिया है.

जॉर्ज मिचेल बुधवार को इसराइल आने वाले थे ताकि वे इसराल और फ़लस्तीनियों के बीच अप्रत्यक्ष वार्ता शुरु करवाने की कोशिश कर सकें.

इसराइल ने कुछ दिन पहले घोषणा की थी कि वो पूर्वी यरुशल्म में यहूदियों के लिए 1600 रिहाइशी घर बनाएगा जिसे लेकर काफ़ी तनाव की स्थिति चल रही है. अमरीकी दूत की घोषणा इसी तनाव की बीच आई है.

जिस समय इसराइल ने ये घोषणा की थी उस दौरान अमरीकी उपराष्ट्रपति जो बाइडेन मध्य पूर्व की यात्रा पर यरुशलम आए हुए थे.

पूर्वी यरुशलम में मुस्लिम समुदाय के धार्मिक स्थल के पास एक साइनागॉग के दोबारा खुलने के बाद फ़लस्तीनियों और इसराइली पुलिस के बीच झड़पे हुई हैं.

तनाव

इसराइल ने तीन हज़ार अतिरिक्त सुरक्षा बल तैनात किए हुए हैं.

जॉर्ज मिचेल इसराइल के राष्ट्रपति शिमोन पेरेस से मुलाक़ात करने वाले थे. अमरीका यरुशलम में यहूदियों के लिए घर बनाने की इसराइली घोषणा की कड़ी निंदा कर चुका है.

अमरीकी उपराष्ट्रपति बाइडेन ने कहा था कि इसराइल की यह घोषणा और इसका समय शांति वार्ताओं के लिए ज़रुरी माहौल के महत्व को नकारती है.

उल्लेखनीय है कि फ़लस्तीनी पूर्वी यरुशलम को अपनी राजधानी बनाना चाहते हैं.

इसराइल ने 1967 की लड़ाई के दौरान पूर्वी यरुशलम पर कब्ज़ा कर लिया था लेकिन अभी तक किसी देश ने इसे इसरायल के हिस्से के तौर पर मान्यता नहीं दी है. अंतरराष्ट्रीय समुदाय पूर्वी यरुशलम को कब्ज़े वाला इलाक़ा मानता है.

संबंधित समाचार